गरीबों की कोई नहीं सुनता

0
61

रायबरेली। जनपद के गंगा तट पर स्थित पवित्र नगरी डलमऊ की रहने वाली वृद्ध सावित्री देवी का कहना था कि वह मतदान के दिन हमेशा वोट डालने जाती थी और लोग उनसे वोट मांगने आते थे और उन्हे मतदान केंद्र तक ले जाकर वोट भी डलवाते थे। लेकिन इस बार न तो उनके पास कोई वोट मांगने आया और न ही कोई उन्हे वोट डलवाने के लिये ले गया। सावित्री देवी गंगा तट के किनारे पड़े एक तख्त पर बृहस्पतिवार को पूरा दिन बैठी रही और काफी उदास दिखी। उनका कहना था कि भैया गरीबो की कोई नहीं सुनता। उनके पास न तो विधवा पेंशन है और न ही कोई प्रशासनिक सुविधा मिलती है। जैसे-तैसे उनका जीवन कट रहा है। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों के प्रति उनकी आंखों में बड़ा आक्रोश दिखा।
रिपोर्ट राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY