जांच के लिए अधिकारी नामित

0
77

भदोही: अभोली विकास खण्ड के ग्राम पंचायत सेमरा गांव के ग्राम प्रधान द्वारा विकास कार्यो में की गयी अनियमितता के सबंध में शिकायतकर्ता के प्रार्थना पत्र को संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जांच अधिकारी नामित किया है।

जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता नन्हेलाल व अन्य द्वारा ग्राम प्रधान ग्राम पंचायत सेमरा विकास खण्ड डीघ के विरूद्घ आरोप लगाया गया था कि फर्जी फर्म के नाम शासकीय धनराशि का आहरण कर लिया गया है। ऐसे संस्था के नाम चेक काटा गया है जो प्रश्नगत सामान का सप्लाई नही करते है। इसी क्रम चतुर्थ राज्य वित्त आयोग १४वां वित्त आयोग के अंतर्गत प्रस्तावित कई कार्यो की जिलाधिकारी के स्वीकृति के पूर्व ही कार्य कराकर धनराशि का गबन किया गया है। शिकायती प्रार्थना पत्र शपथ पत्र के साथ प्रस्तुत कर शिकायतकर्ता ने ग्राम प्रधान द्वारा किये गये गबन के स बंध में जांच कराये जाने की मांग की गयी थी।

शिकायतकर्ता द्वारा कुल १२ बिन्दुओ पर जांच कराये जाने की गुहार लगायी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिलाधिकारी ने जांच समिति गठित करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जांच अधिकारी नामित किये जाने का निर्देश दिया है साथ ही यह भी निर्देश दिया है कि शिकायतकर्ताओ ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव आदि को सूचित कर अपनी जांच प्रक्रिया पूर्ण करेगे तथा जांच अधिकारी को अभिलेख उपलब्ध कराने की पूर्ण जिम्मेदारी खण्ड विकास अधिकारी की होगी।

लोहिया आवास के धनराशि की हुई हेराफेरी के मामले में डीएम से गुहार
ज्ञानपुर। तहसील ज्ञानपुर के ब्लाक डीघ किसुनदेवपुर गांव निवासी फुलचन्द पुत्र बिहारी ने जिलाधिकारी को शिकायती प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर आरोप लगाया है कि उसकी पत्नी मुगरा देवी लोहिया आवास मिला है। उसका प्रथम किश्त १ लाख ३७ हजार ५ सौ २ जून २०१६ को यूनियन बैंक शाखा जंगीगंज के खाता सं या ४८७९०२०१०५२४६२२ में भेजा गया था लेकिन ब्रान्च मैनेजर सचिव व ग्राम प्रधान के मिली भगत से कुटरचित दस्तावेज प्रस्तुत कर कागजात में हेरा फेरी कर उपरोक्त धनराशि का गबन कर लिया है। जानकारी होने पर शिकायत की गयी तो बैंक द्वारा जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

रिपोर्ट- रामकृष्ण पाण्ड़ेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here