केरल में अब केवल पांच सितारा होटल में ही मिलेगी शराब, सुप्रीमकोर्ट ने लगाई आदेश पर मुहर

0
300

केरल- मंगलवार दोपहर सुप्रीम कोर्ट ने केरल में शराब बंदी लागू करने के तहत केरल सरकार द्वारा बनाई गई नई नीति पर अपनी मुहर लगा दी है। राज्य में दस सालों के भीतर शराब पर पूरी तरह रोक लगाने के लिए बनाई गई इस नीति के अनुसार सिर्फ पांच सितारा होटलों को ही शराब परोसने की अनुमति दी गई है।

पांच सितारा होटल में ही परोसी जाएगी शराब
सुप्रीम कोर्ट ने सरकार की इस नीति के तहत केरल के बारों में शराब पर रोक जारी रखी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा पांच सितारा होटलों में ही शराब परोसी जाएगी जबकि 2, 3 और 4 सितारा बार वालों की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। होटल और बार मालिकों ने शराब बंदी की रोक को लेकर हाईकोर्ट में रोक हटाने को लेकर याचिका दायर की थी।
हाईकोर्ट सुप्रीम कोर्ट में रोक हटाने के लिए दायर की याचिका
राज्‍य में शराब परोसे जाने को लेकर केरल सरकार ने नई नीति बनाई थी। जिसके तहत सिर्फ पांच सितारा होटलों में ही शराब परोसी जा सकेगी। राज्य के होटल और बार मालिकों ने इस नीति को हाइकोर्ट में चुनौती दी थी लेकिन हाई कोर्ट ने याचिका खारिज कर दी थी। जिसके बाद होटल और बार मालिकों ने सुप्रीम कोर्ट में शराब बंदी को लेकर रोक हटाए जाने की याचिका दायर की गई थी।
शराब की बढ़ती खपत को लेकर केरल में बनाया गया नया कानून
शराब की सबसे ज्‍यादा खपत 14.9 फीसदी केरल में है। शराब की खपत की बड़ती मात्रा को देख केरल सरकार ने  राज्य में शराबबंदी की नई नीति बनाई। जिसके तहत अब सरकार ही शराब की सप्लाई करेगी । राज्य में शराब की 732 दुकानें हैं जहां से शराब खरीदी जा सकती है। राज्य में सिर्फ 20 पांच सितारा होटल हैं जिन्‍हें बार के लाइसेंस दिए गए हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here