अब गाडियों में ‘मंत्री जी का रिश्तेदार’ या अपना पद का नाम लिखवाना पड़ेगा महंगा

0
305

देहरादून – लाल बत्ती भले ही बैन हो गई लेकिन लोगों का अपनी गाड़ी के माध्यम से अपना परिचय देने का चलन कम नहीं हुआ। कई लोग अपनी गाड़ी पर अपना पद, मुहर, राजकीय चिन्ह या धार्मिक चिह्न की नेमप्लेट लगाई होती है। कई महाशय तो खुद को मंत्रीजी का बेटा, भाई या रिश्तेदार की बतलाते हैं, वो भी गाड़ी पर नेमप्लेट लगाकर। अगर आपने भी कुछ ऐसा किया है तो जल्दी से ऐसी नेमप्लेट हटवा दीजिए क्योंकि उत्तराखंड पुलिस अवैध नेमप्लेट के खिलाफ एक मई से 15 मई तक अभियान चलाने वाली है।

इस अभियान के तहत पुलिस निजी वाहनों पर विभागीय, धार्मिक संगठन, संस्था, आदि के नाम, पदनाम, मुहर या किसी प्रकार के प्रकार के राष्ट्रीय या राजकीय चिन्ह से जुड़ा नेम प्लेट लगाने वालों पर सख्त कार्यवाही करेगी। अपर पुलिस महानिदेशक, अशोक कुमार ने बताया कि  अपराध एवं कानून व्यवस्था द्वारा सभी जनपद प्रभारियों को निर्देश जारी किये गये हैं।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा भी निजी वाहनों पर विभाग या पदनाम लिखवाने को प्रतिबंधित करने के बाद भी लोग स्टेटस सिंबल के लिए ऐसे नेम प्लेट लगा रहे हैं। जिसका परिणाम है कि अब भी काफी लोग मोटरयान अधिनियम के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। उत्तराखंड पुलिस सभी जनपदों में आगामी 01 मई से 15 मई तक इस सम्बन्ध में सधन्न चैकिंग अभियान चलाकर ऐसे वाहनों से विभिन्न प्लेट, मुहर व चिन्ह हटाएगी। साथ ही कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here