अब गंगोत्री धाम में नहीं हो पायेंगे गोमुख के दर्शन, बारिश में बह गया गंगा मैया का उद्गम स्थान

0
5858

Gaumukh

हरिद्वार- उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते सदियों से चले आ रहे तीर्थ यात्रियों और हिन्दू दर्शनार्थियों के लिए एक दुखद खबर आई है | दरअसल आपको बता दें कि डेव भूमि उत्तराखंड में हिन्दुओं के प्रमुख तीर्थ गंगोत्री में स्थित गोमुख (जिसे गंगा मैया का उद्गम स्थान माना जाता है) के अब दर्शन श्रधालुओं को नहीं हो सकेंगे | ऐसा इसलिए क्योंकि भारी बारिश के चलते गोमुख गंगा के प्रवाह में बह गया है |

2013 में ही आ गयी थी दरारें –
बता दें कि वर्ष 2013 में जब उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते भीषण तबाही आई तभी माँ गंगा के इस परम पवित्र उद्गम स्थान पर दरारें आ गयी थी और इस बार 2016 में हुई भीषण बारिश के चलते वह दरारें इतनी बढ़ गयी कि गोमुख का वह भाग जहां से पहली बार गंगा मैया के दर्शन होते थे वह अब बह गया है | इस कटान और बहाव के चलते अब गोमुख वैसा फिर कभी नहीं दिखेगा जैसा कि वह पहले कभी दिखता था |

वैज्ञानिक ग्लोबल वार्मिंग को मान रहे है इसका सबसे बड़ा कारण –
ज्ञात हो कि हिमालय की तलहटी में बसे वाडिया हिमालय भू विज्ञान संस्थान से जुड़े वैज्ञानिकों का मानना है कि आज जो गोमुख सदियों से आस्था और श्रधा का प्रमुख केंद्र था जिस तरह से बह गया है उसका सबसे बड़ा और प्रमुख कारण ग्लोबल वार्मिंग है | वैज्ञानिकों कहना है कि जिस तरह से लगातार हिमालय और उसकी तलहटी में जहां पहले कभी बर्फ़बारी हुआ करती थी अब वहां पर भारी बारिश होने लगी है इसी के चलते ऐसा हो रहा है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY