भारत से मदद की गुहार लगा रहा चीन, कहा NSG मामले में भारत के लिए दरवाजे पूरी तरह बंद नहीं…

0
2302

 

china foreign minister

दक्षिण चीन सागर पर अंतर्राष्ट्रीय विरोध का सामना कर रहे चीन अब NSG मामले पर भारत के विरोध पर अफ़सोस जाहिर कर रहा है, भारत की विदेश यात्रा पर आये चीन के विदेश मंत्री ने कहा भारत के लिए NSG के दरवाजे पूरी तरह से बंद नहीं हुए हैं और भारत को दक्षिण चीन सागर मामले में चीन की चिंताओं को समझना चाहिए |

चीनी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने अपनी समीक्षा में भारत और चीन को प्रतिस्पर्धी नहीं बल्कि साझेदार करार देते हुए कहा कि ‘चूंकि बीजिंग और नयी दिल्ली शीर्ष स्तरीय गहन कूटनीतिक संपर्कों के सीजन में जा रहे हैं जो उनकी साझेदारी को परिभाषित कर सकते हैं, दोनों को अपनी असहमतियों को नियंत्रण में रखने के लिए मिल कर काम करना चाहिए।’

समीक्षा में कहा गया है, ‘और सभी से इतर यह रेखांकित किया जाना चाहिए कि भारत ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में अपने प्रवेश पर रोक के लिए चीन पर गलत तौर पर आरोप लगाया है।’

शिन्हुआ ने अपनी समीक्षा में कहा कि परमाणु वाणिज्यिक पर नियंत्रण करने वाले देशों के समूह में शामिल होने के लिए एनपीटी पर हस्ताक्षर अनिवार्य हैं, ‘अभी तक, परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर दस्तखत नहीं करने वाले किसी भी देश को इस समूह में शामिल नहीं किया गया है और इसी वजह से भारत को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है |

शिन्हुआ ने अपनी समीक्षा में या उम्मीद जताई है कि भारत दक्षिण चीन सागर के मुद्दे पर चीन की समस्याओं को समझे जहाँ पर यूएन का फैसला आने के बाद से चीन को अंतर्राष्ट्रीय विरोध का सामना करना पड़ रहा है और इस मामले में जीत हासिल करने वाले फिलीपीन के साथ ही अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया ने इस फैसले को बाध्यकारी बताते हुए चीन से उसे लागू करने को कहा है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here