नियंत्रण में रहे चीन वरना नतीजे सामने आयेंगे : बराक ओबामा

0
10968

obama
G-20 सम्मलेन के लिए चीन पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कड़े और स्पष्ट शब्दों में चीन की नीतियों और उसके आक्रामक व्यवहार पर अपनी नाराज़गी जाहिर की है, उन्होंने कहा चीन को खुद को नियंत्रण में रखने की ज़रुरत है, उभरते चीन की आर्थिक नीतियों और उअर विवादित साउथ चाइना सी पर चीन के आक्रामक दिखने वाले रवैये से पड़ोसी देश चिंतित हैं |

ओबामा ने कहा “हम सभी अंतर्राष्ट्रीय कानूनों और नियमों से बंधे हुए हैं, और ऐसा इसलिए है क्योकि ये क़ानून और एक मजबूत अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था सभी के हित में है, और यह चीन के भी हित में रहेगा कि वह अंतर्राष्ट्रीय नियनों व कानूनों का पालन करे |

उन्होंने कहा आज जब भी हम लोग अंतर्राष्ट्रीय कानूनों के उल्लंघन की बात करते हैं तो उसमें दक्षिणी चीन सागर का जिक्र जरूर आता है। आए दिन इस क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है। इसी तरह का उल्लंघन चीन आर्थिक नीतियों के मोर्चे पर भी कर रहा है। इसे लेकर हम लोग पूरी तरह से आश्वस्त हैं।

उन्होंने कहा मैंने चीनी राष्ट्रपति से बात की है और कहा कि अमेरिका खुद को नियंत्रण में रखकर ही ताकतवर बना है, साथ ही हमने उन्हें संकेत भी दिए हैं कि अगर चीन अपने आक्रामक रवैये को जारी रखता है तो इसके नतीजे आएंगे | उनहोंने कहा हम चीन पर जोर दे रहे हैं कि वह कि वह अंतर्राष्ट्रीय नियमों के भीतर ही अपने कदम बढ़ाये तभी अमेरिका और चीन साझेदार हो सकते हैं |

उन्होंने कहा चीन के पास 1 अरब से ज्यादा लोग हैं और वह दुनिया की स्सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है इसलिए उससे यही अपेक्षा की जाति है कि अंतर्राष्ट्रीय मामलों में भी वह अपने कद का ख्याल रखे, हम हमेहा से ही ऐसे शांतिपूर्ण चीन के विकास का स्वागत करते रहे हैं जिसमें अंतर्राष्ट्रीय नियमों का पालन हो और यही सब के ल्लिये अच्छा रहेगा गरीब और पिछड़ा हुआ चीन सबके लिए कष्टकारी होगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY