बुजुर्ग को सोने में दिक्कत, कोर्ट ने दिए मंदिर शिफ्ट करने के आदेश

0
547
प्रतीकात्मक फोटो  (photo credit -delhi court nic.in)
प्रतीकात्मक फोटो (photo credit -delhi court nic.in)

сфера применения результатов नई दिल्ली की एक हाऊसिंग सोसाइटी में रहने वाले एक बुजुर्ग ने कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आदेश दिया हैं कि सोसाइटी परिसर से देवी- देवताओं की मूर्तियों को कहीं और हटा दिया जाय और साथ ही शिकायत करने वाले बुजुर्ग ब्यक्ति को 50 हजार रूपये नगद हर्जाने के तौर पर देने के लिए कहा हैं I

http://blue-moon-gallery.com/owner/harakteristika-zarabotnoy-plati-kratko.html характеристика заработной платы кратко

карта иваново лежневская http://www.ews.ru/priority/vityaz-podolsk-turnirnaya-tablitsa-2016-2017.html витязь подольск турнирная таблица 2016 2017 क्या थी शिकायत –
दिल्ली की एक सोसाइटी में रहने वाले बुजुर्ग जैन ने कोर्ट से शिकायत की थी कि सोसाइटी के अन्दर बने मंदिर में लगे लाउडस्पीकर की जोर से होने वाली आवाज से वह ठीक से सो नहीं पाते हैं, उन्हें अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ता हैं I इसी मामले पर सुनवाई करते हुए दिल्ली की एक कोर्ट ने MCD को आदेश दिया हैं कि 2 महीने के अन्दर सोसाइटी परिसर से मंदिर के देवी-देवताओं की मूर्ति को पूरे आदर और सम्मान के साथ किसी दूसरी जगह पर सिफ्ट कर दिया जाय I और कोर्ट ने साथ ही साउथ-वेस्ट दिल्ली के केएन काटजू मार्ग थाने के SHO को निर्देश दिया है कि वह इस आदेश का सही ढंग से पालन कराने में मदद करें।
आपको बता दें कि जज प्रदीप चड्ढा ने यह भी कहा हैं कि जब तक मंदिर को कहीं और सिफ्ट नहीं कर दिया जाता हैं तब तक मंदिर में बिना लाउडस्पीकर के ही पूजा अर्चना शांतिपूर्वक चलती रहनी चाहिए I ज्ञात हो कि बुजुर्ग जैन ने इससे पहले भी इस मामले की शिकायत सिविल जज के समक्ष भी की थी लेकिन उनके द्वारा इस मामले में सुनवाई नहीं की गयी थी I

is unavailable user not found перевод