दुष्कर्म व विवाहिता को जलाने के अलग-अलग मामले में पति समेत दो आरोपियों की तरफ से अदालतों में दी गई जमानत अर्जी

0
101

सुल्तानपुर– दुष्कर्म व विवाहिता को जलाने के अलग-अलग मामले में पति समेत दो आरोपियों की तरफ से अदालतों में जमानत अर्जी प्रस्तुत की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात सत्र न्यायाधीश अनिल यादव व एडीजे प्रथम श्यामजीत यादव ने जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

पहला मामला कादीपुर क्षेत्र के हसनपुर टैनी गांव का है। जहां के रहने वाले आरोपी अरमान समेत चार के खिलाफ अभियोगी ने अपनी बेटी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने एवं उसके साथ जबरन दुष्कर्म करने के मामले में बीते 10 दिसम्बर को मुकदमा दर्ज कराया। फ़िलहाल पुलिस ने अपनी तफ्तीश में अरमान के अलावा अन्य आरोपियों का नाम निकाल दिया है। इसी मामले में आरोपी अरमान की तरफ से प्रस्तुत जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान शासकीय अधिवक्ता अब्दुल मोमीन ने बचाव पक्ष के तर्कों को निराधार बताते हुए जमानत पर विरोध जताया। तत्पश्चात एफटीसी जज अनिल कुमार यादव ने जमानत अर्जी खारिज कर दी।

दूसरा मामला अखण्डनगर थानाक्षेत्र के नरवारी गांव का है। जहां के रहने वाले आरोपी हीरालाल निषाद आदि के खिलाफ वादी चतुरी निषाद ने मुकदमा दर्ज कराया है,आरोप के मुताबिक दहेज की मांग न पूरी होने के चलते उसकी बेटी संगमा को ससुरालीजनों ने मिट्टी का तेल डालकर जलाकर मारने का प्रयास का किया। इसी मामले में आरोपी पति हीरालाल की तरफ से प्रस्तुत जमानत अर्जी को एडीजे प्रथम श्यामजीत यादव ने खारिज कर दिया है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY