21 सूत्री मांगों को लेकर भाकपा ने भगवानपुर प्रखंड कार्यालय पर दिया धरना

0
63

भगवानपुर/बेगूसराय(ब्यूरो)- प्रखंड और अंचल कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार, इंदिरा आवास, वृद्धावस्था पेंशन आदि योजनाओं में लाभुकों के चयन में अवैध वसूली पर रोक लगाने, बसही पुल के दोनों ओर एप्रोच पथ बनाने, जर्जर दामोदरपुर -पासोपुर, मेहदौली-संजात, हरिचक-दोहटा पथ की मरम्मत समेत 21 सूत्री मांगों के समर्थन में भाकपा अंचल इकाई द्वारा शनिवार को भगवानपुर प्रखंड कार्यालय के समक्ष धरना दिया गया|

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बछवाड़ा के पूर्व विधायक अवधेश कुमार राय ने कहा कि एक तरफ जहां राज्य में अपराध व भ्रष्टाचार का बोलबाला है वहीं दूसरी तरफ सुशासन बाबू शराबबंदी का ढिंढोरा पीटने में मशगूल हैं| वहीं केन्द्र सरकार भी लोगों को ठगने का कार्य कर रही है| उन्होंने कहा कि अगर स्थानीय समस्याओं का यथाशीघ्र निदान नहीं किया जाएगा तो पार्टी द्वारा आंदोलन तेज किया जाएगा|

पार्टी के राज्य परिषद सदस्य सत्यनारायण महतो ने कहा कि राजनीतिक और प्रशासनिक भ्रष्टाचार के कारण विकास कार्य अवरुद्ध हो गया है| प्रशासनिक अधिकारियों की लाल फीताशाही के हावी रहने के कारण लोगों को समुचित लाभ नहीं मिल रहा है| उन्होंने कहा कि बिना चढ़ावा दिए किसी कार्यालय में लोगों का काम नहीं हो रहा है| इंदिरा आवास के चयन में अवैध वसूली की गंगा बह रही है| आंगनबाड़ी केंद्रों में मेन्यू के अनुसार बच्चों को भोजन नहीं मिल रहा है| सरकारी प्रारम्भिक स्कूल में सत्र शुरू हुए 3 माह बीत गया परंतु अबतक बच्चों को किताब नहीं मिला है|

इस परिस्थिति में बच्चे कैसे पढ़ेंगे? उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपने हक के लिए संघर्ष का आह्वान किया| धरना से पूर्व गाजे बाजे और लाल झंडे के साथ मेहदौली स्थित पार्टी कार्यालय से सैकड़ों की संख्या में महिला और पुरुष पार्टी कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाला जो मेहदौली, भगवानपुर बाजार होते हुए प्रखण्ड कार्यालय पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया| धरना की अध्यक्षता सुशील कुमार महतो ने की| धरना को अंचल मंत्री रामचन्द्र पासवान, मुखिया अशोक कुमार सिंह, डॉ. शिवशंकर महतो, डॉ. रामचन्द्र चौधरी, राजू कुमार, अशोक राय, शम्भू प्रसाद सिंह, हेमन्त कुमार आदि ने सम्बोधित किया| अंत में 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने बीडीओ से मिलकर 21 सूत्री मांग पत्र सौंपा|

रिपोर्ट- आशुतोष कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY