गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा से ही बिहार का विकास संभव: नीतीश कुमार

0
74

दलसिंहसराय/समस्तीपुर(ब्यूरो)- अनुमण्डल से सटे रामपुर जलालपुर गाँव मे पूर्व खाद एवं आपूर्ति मंत्री रामलखन महतो द्वारा नवनिर्मित आर. एल. महतो इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन का उदघाटन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया। इस अवसर पर महती सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश दुनिया मे बिहार के बच्चे अपनी प्रतिभा का परचम लहरा रहे हैं। शिक्षा का वयापक क्षेत्र इसका उदाहरण हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज खासकर बिहार में गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा की आवश्यकता हैं। इसके लिये बिहार सरकार द्वारा बहुआयामी पहल किया जा रहा हैं। जबसे हमने गद्दी संभाली थी प्रथमतः बच्चो को स्कूल भेजने का काम किया। विद्यालयों में भवन निर्माण कराया। लगभग 4 लाख शिक्षको की नियुक्ति की। पांचवीं कक्षा के बाद गरीबी के कारण नही पढ़ रहे बच्चो को प्रोत्साहन स्वरूप पोशाक ,साइकिल, बैग आदि देने की शुरुआत की। पहले लड़कियों के लिए साईकिल का प्रावधान किया गया। फिर लड़को के लिए भी यह व्यवस्था दी गयी। इस योजना के प्रारंभ से पूर्व एक लाख सत्तर हजार छात्र छात्रा पढ़ाई करती थी । वही इस वर्ष स्कूली छात्र छात्राओं की संख्या 9 लाख तक पहुँच गयी हैं। अब छात्र एवं छात्राओं की संख्या लगभग बराबर हो चुकी हैं। अब उन्हें गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने के लिए बड़ी योजनाओं की शुरुआत की गई हैं। बन्द शिक्षक प्रशिक्षण स्कूलो को खोलने के लिए 2400 करोड़ रुपये खर्च किये गए हैं। शिक्षा के स्तर में इजाफा के कारण प्रजनन दर भी समान हो गया हैं। उन्होंने कहा की बिहार में शिक्षा का विकास कुछ लोगो को रास नही आता हैं। वे इस माहौल को बिगड़ना चाहते हैं। आगे कहा कि पहले शिक्षा का बजट 21000 करोड़ था। परंतु अब इस बजट को बढ़ाकर 25000 करोड़ किया गया हैं।

परंतु अब इस बजट को बढ़ाकर 25000 करोड़ किया गया हैं। बिहार के बढ़ते कदम को कुछ लोगो के द्वारा गड़बड़िया फैला कर रोकने का काम किया हैं। उन्हें किसी भी सूरत में माफ नही किया जाएगा। इस अवसर मुख्यमंत्री ने आम अवाम से अपील करते हुए कहा कि वे बाल विवाह , शराब बंदी एवं दहेज प्रथा के विरुद्ध सामाजिक वातावरण बनाये और प्रशासन के कार्यो में सहयोग करें। जिस शादी में दहेज का लेन देन हो उस शादी समारोह का सामाजिक बहिष्कार करें।

उदघाटन समारोह को बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, सहकारिता मंत्री आलोक मेहता, समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने संबोधित किया। मौके पर पूर्व सांसद अश्वमेध देवी,विधायक रामबालक सिंह, राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर, आर्यभट्ट विश्विद्यालय के कुलपति डॉ. समरेन्द्र प्रताप सिंह समेत प्रखंड प्रमुख, मुखिया, नगर पंचायत के मुखपार्षद राजेश पासवान, उप मुखपार्षद चंदन प्रसाद आदि उपस्थित थे। उदघाटन समारोह की अध्यक्षता पूर्व मंत्री सह आर. एल. महतो इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन के संस्थापक राम लखन महतो ने की।

बताते चले कि मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर तरुनिया मैदान मे बनाये गए हैलीपैड पर उतरा। वहाँ से कार द्वारा समारोह स्थल तक पहुँचे।वापसी के समय हेलीकॉप्टर की समय सीमा समाप्त हो जाने के कारण विधानसभाध्यक्ष के सड़क मार्ग से वापस हो गए। समारोह के मद्देनजर प्रशासनिक पदाधिकारियो में दरभंगा प्रमंडल के आयुक्त, समाहर्ता, एसडीओ, एसपी, एएसपी के अतिरिक्त पुलिस बल के जवान सक्रिय थे। गौरतलब है कि इतनी प्रशासनिक चौकसी के बाबजूद लगभग चार घण्टे तक शहर की यातायात व्यवस्था अस्त व्यस्त रही। कई स्थलों पर जाम के कारण आवाजाही रुकी रही। बाइक, साइकिल एवं पैदल यात्रियों को भी काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा।

समारोह स्थल पर प्रेस दीर्घा की स्थापना तो की गई परन्तु वहाँ बैठने की सीमित व्यवस्था के कारण पत्रकारों के लिये भी प्रवेश निषेध लागू कर दिया गया था। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के हाथों मौलश्री के पौधे भी लगाए गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1 जुलाई से लगने वाले जी. एस. टी का समर्थन करेंगे।

रिपोर्ट- रंजीत कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY