स्वतंत्रता संग्राम के प्रथम शहीद मंगल पांडे के पैतृक गांव में शोध संस्थान खोलने का निर्णय

0
59

बलिया(ब्यूरो)- स्वतंत्रता संग्राम के प्रथम शहीद मंगल पांडे के पैतृक गांव में शोध संस्थान खोलने का निर्णय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय द्वारा प्रत्येक गांव में गठित किए गए स्वामी विवेकानंद युवा क्लब के पदाधिकारियों ने लिया है| बुधवार को ग्राम पंचायत नगवा के मंगल पांडे स्मारक परिसर में ग्रामीणों की बैठक में युवा क्लब के अध्यक्ष नीतेश कुमार पाठक ने दी|

उन्होंने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आज भी मंगल पांडे के क्रांतिकारी जीवन से जुड़े हुए बहुत से पहलू अन देखे रह गए हैं जो उनकी देशभक्ति और वीरता की बखान बखूबी करते हैं| आज उनकी यादों से जुड़ी हुई अनेक घटनाएँ जो उनके पैतृक गांव में आज भी स्मृतियां आशीष हैं उन्हें सहेजने और सवारने तथा उन पर शुद्ध करने की नितांत आवश्यकता है| तभी जाकर के मंगल पांडे के क्रांतिकारी इतिहास और उनके गौरवशाली बलिदान को समूचे भारतवासियों को बताया जा सकता है|

इस मौके पर युवा मंडल अध्यक्ष नितेश पाठक ने कहा कि युवा कार्यक्रम खेल मंत्रालय एवं नेहरू युवा केंद्र बलिया के निर्देशन में ग्राम पंचायत नगवा में चल रहे युवा क्लब अपने सामाजिक गतिविधियों को आगे बढाते हुए मंगल पांडे जैसे महान विभूति के पैतृक गांव होने के नाते उनके विषय में लोगों को बताने के लिए शोध संस्थान खोलने का निर्णय लिया है| इसके लिए युवा क्लब जल्द ही प्रस्ताव बनाकर नेहरू युवा केंद्र बलिया एवं भारत सरकार के प्रेषित करने का निर्णय लिया है|

इस मौके पर नगवा के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि विमल पाठक ने युवा क्लब के इस प्रयास की सराहना करते हुए हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया| इस बैठक मे विशाल पाठक, एजाज़, लक्ष्मण यादव, मुन्ना गोंड, मंटू राम, फिरोज, मुकेश चौबे, अंजली, नगमा, भोला, विनोद पासवान आदि लोग मौजूद रहे ।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY