उपजिलाधिकारी ने दिए अवैध निर्माण रोकने के आदेश

0
92


सुल्तानपुर : अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद सुल्तानपुर को श्रीमान उप जिलाधिकारी महोदय ने ट्रांसपोर्ट नगर में हो रहे अवैध निर्माण को तत्काल रोकने का आदेश दिया और चेतावनी भरा पत्र अधिशासी अधिकारी को भेजकर प्रत्येक दशा में ट्रांसपोर्ट नगर में निर्माण कार्य बंद कराने का आदेश दिया और कहा कि बार-बार आदेश के बाद भी यदि निर्माण कार्य बंद नहीं होगा तो अधिशासी अधिकारी उसके लिए व्यक्तिगत जिम्मेदार होंगे.

आपको बताते चलें कि दिसंबर माह में बिना मानचित्र स्वीकृत कराए नगरपालिका के द्वारा पयागीपुर में ट्रांसपोर्ट नगर का निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया जहां पर निर्माण कार्य कराया जा रहा है उसके ऊपर से हाई टेंशन तार जा रहा है लेकिन नगर पालिका के जिम्मेदार इस को दरकिनार करते हुए निर्माण कार्य शुरू करा दिए जिस पर अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष रवींद्र त्रिपाठी के नेतृत्व में व्यापारियों ने इसकी शिकायत की शिकायत मिलने के बाद श्रीमान उप जिलाधिकारी सदर द्वारा नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी को 28 दिसंबर 2016 को पत्र भेजकर ट्रांसपोर्ट नगर हो रही निर्माण के स्वीकृत मानचित्र की कॉपी मांगी और लिखा कि यदि मानचित्र स्वीकृत हो तो दिखाएं यदि स्वीकृत ना हो तो तत्काल कार्य रोक दें नगर पालिका परिषद द्वारा मान चित्र दिखाए न जाने पर दुबारा 9 जनवरी 2017 को रिमाइंडर पत्र भेजकर नगर पालिका परिषद अधिशासी अधिकारी को मानचित्र दिखाने का आदेश नियत प्राधिकारी विनियमित क्षेत्र उप जिलाधिकारी सदर सुल्तानपुर ने आदेश दिया उसके बाद भी बिना स्वीकृत मानचित्र के ट्रांसपोर्ट नगर में नगर पालिका परिषद के जिम्मेदारों ने निर्माण कार्य जारी रखा जिस पर दिनांक 18 जनवरी 2017 को नियत प्राधिकारी विनियमित क्षेत्र उप जिलाधिकारी सुल्तानपुर ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद को आर बी ओ एक्ट 1958 धारा 10 के तहत नोटिस भेजकर तत्काल काम रोकने का आदेश देते हुए अधिशासी अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किए कि जो निर्माण हुआ है उसका ध्वस्तीकरण क्यों न करा दिया जाए जिसके बाद भी नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी ने निर्माण कार्य नहीं रूकवाया मौके पर निर्माण कार्य होता देख उप जिलाधिकारी सदर ने दिनांक 8 मार्च 2017 को फिर से पत्र लिखकर अधिशासी अधिकारी नगरपालिका को निर्माण कार्य प्रत्येक दशा में रुकवाने का कड़ा आदेश जारी किया है और पत्र में स्पष्ट लिखा है कि यदि निर्माण कार्य होता पाया गया तो उसके लिए अधिशासी अधिकारी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे अब देखना यह है कि बार-बार पत्र लिखकर केवल खाना पूरी की जा रही है या वास्तव में कोई कार्यवाही होगी अभी हाल में ही कानपुर में निर्माणाधीन भवन था जाने से कई मजदूरों का देहांत हो गया था उसकी बाद भी नगर पालिका के जिम्मेदार कानपुर की घटना से सबक नहीं ले रहे हैं और बिना मानचित स्वीकृत कराई ही अवैध रूप से निर्माण कार्य करा रहे हैं और उप जिलाधिकारी सदर के आदेशों की अवहेलना कर रहे हैं

रिपोर्ट – दीपक मिश्र

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here