सरकार की मंशाओ पर पानी फेरने पर लगी संस्थाए

0
70

बीघापुर,उन्नाव(ब्यूरो)- जहां एक ओर सरकारें ग्रामीण अंचलों में महिलाओं व नवजात षिषुओं के स्वास्थ्य के साथ साथ पोशण की व्यवस्था के लिए धन का बड़े पैमाने पर आवंटन की रही हैं। वहीं सराकर की इस मंशा पर संस्थाएं पानी फेरने में भी लगी हैं।

विकास खण्ड की 12 ग्राम सभाओं में शासन द्वारा आंगनवाड़ी केन्द्रों का निर्माण होना था। जिसके लिए षासन ने धन भी कार्यदायी संस्था को मार्च 2017 में ही निर्गत कर दिया था। किन्तु 4 महीने बीत जाने के बाद भी आज तक 12 में से एक भी भवन का निर्माण नहीं हो सका है।

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन केन्द्रों के निर्माण के लिए 6 लाख रु0 आर ई एस से तथा 2 लाख रु0 बाल विकास परियोजना विभाग स्वयं से देकर कुल 8 लाख रु0 की लागत से केन्द्रों का निर्माण होना है।

जिसमें रुझेई, करनाईपुर(साढ़ेमऊ), मदरसाटोला(पाली), खेसुआ, जगतखेड़ा, खरझारा इन केन्द्रों का निर्माण आरईएस के द्वारा कराया जाना है। बरदहा , भटखेरा, गिररिजानगर में ग्राम पंचायत से, नयागंज(टेढ़ा), रैदास टोला(पाही), जंगलीखेड़ा में क्षेत्र पंचायत से केन्द्रो का निर्माण कार्य सौपा गया है।

किन्तु अभी तक किसी भी केन्द्र पर निर्माण नहीं हो सका है। कहीं कहीं पर कार्यदायी संस्थाएं नीव खोद कर गायब हो गई हैं। ऐसे में शासन की मंषा पर पूरी तरह से पानी फेरने में कार्यदायी संस्थाएं जुटी हैं।

रिपोर्ट-मनोज सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY