जयंतियों पर होगा महापुरूषों के व्यक्तित्व कृतित्व पर गोष्ठियों का होगा आयोजन

0
128

प्रतापगढ़(सू.वि.)- जिलाधिकारी श्री शरद कुमार सिंह ने सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग, उ0प्र0, मुख्यमंत्री सूचना परिसर, लखनऊ के पत्र दिनांक 25 अप्रैल 2017 के क्रम में महापुरूषों की जयन्ती व पुण्य तिथि पर घोषित 15 सार्वजनिक अवकाशों को निर्बन्धित अवकाश घोषित किये जाने के सम्बन्ध में एक आदेश जारी कर समस्त विभागाध्यक्षों/कार्यालयाध्यक्षों को निर्देशित किया है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जयन्ती 24 जनवरी, महार्षि कश्यप एवं निषादराज गुहा जयन्ती 05 अप्रैल, चेटीचन्द 29 मार्च, हजरत ख्वाजा मोइनउद्दीन चिस्ती अजमेरी गरीब नवाज का उर्स 14 अप्रैल, चन्द्रशेखर जयन्ती 17 अप्रैल, परशुराम जयन्ती 28 अप्रैल, लोक नायक महाराणा प्रताप जयन्ती 09 मई, जमातउल विदा (अलविदा रमजान का अन्तिम शुक्रवार) 23 जून, विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर, महाराज अग्रसेन जयन्ती 21 सितम्बर, महार्षि बाल्मीकि जयन्ती 05 अक्टूबर, छठ पूजा पर्व 26 अक्टूबर, सरदार बल्लभ भाई पटेल एवं आचार्य नरेन्द्र देव जयन्ती 31 अक्टूबर, ईद-ए-मिला दुन्नबी 02 दिसम्बर और चौधरी चरण सिंह जयन्ती 23 दिसम्बर को निर्बन्धित अवकाश घोषित किया गया है और इन अवकाश के दिनों में स्कूल/कार्यालय शासन के आदेश के क्रम में पूर्व की भांति खुले रहेगे।

इन निर्बन्धित अवकाश के दिनों में सभी शिक्षण संस्थाओं में महापुरूषों के व्यक्तित्व, कृतत्व एवं प्रेरणाप्रद सीखों को वर्तमान युवा पीढ़ी में प्रचारित एवं प्रसारित करने के उद्देश्य से कम से कम एक घण्टे की सभा/गोष्ठी/सेमीनार आयोजित करने का भी फैसला शासन द्वारा लिया गया है। महापुरूषों के जन्म दिवस एवं पूण्य तिथि के दिन रविवार या किसी अन्य कारण से अवकाश होने की स्थिति में उसके एक दिन पूर्व सम्बन्धित महापुरूष के सम्बन्ध में सभा/गोष्ठी/सेमिनार आयोजित किया जायेगा। जिलाधिकारी ने इस सम्बन्ध 09 मई को पारित अपने आदेश में कहा है कि इन 15 छुट्टियों के दिन सरकारी दफ्तर, स्कूल, कालेज सभी खुले रहेगें तथा स्कूल, कालेजों में छुट्टी वाले दिन पढ़ाई तो होगी ही इसके साथ ही इन महापुरूषों के जीवन पर आधारित एक घण्टे के कार्यक्रम आयोजित किये जायेगे। कार्यक्रमों में चर्चा, परिचर्चा, सेमिनार व अन्य क्या कार्यक्रम होगें यह स्कूल/कालेज खुद तय करेगे। यह सब अनिवार्य नही बल्कि स्वैच्छिक होगा।

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here