सामाजिक समरसता सम्मेलन का हुआ आयोजन

0
70

रायबरेली (ब्यूरो)- महापदमनन्द कम्युनिटी एजूकेटेड एसोसिएशन की ओर से समाज में आयी विकृतियों को दूर करने के उद्देश्य से सामाजिक समरसता सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन के मुष्य अतिथि एम0सी0ई0ए के राष्ट्रीय अध्यक्ष  रघुनाथ प्रसाद शर्मा एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता मण्डल संरक्षक डी0पी0 नन्द ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में एम0सी0ई0ए0 के प्रदेश महासचिव आदित्य नारायण सेन एवं मुख्य वक्ता अपर महासचिव बी0डी0 नन्द, राजू नन्द मण्डल अध्यक्ष,शम्भूनाथ शर्मा सदस्य प्रदेश कार्यकारिणी, रामबहादुर शर्मा प्रदेश संगठन सचिव रहे।

मुख्य अतिथि रघुनाथ प्रसाद शर्मा एवं अध्यक्षता कर रहे डीपी नन्द ने भगवान बुद्ध, अर्हत उपालि, पद्मश्री भिरवानी ठाकुर, जननायक कर्पुरी ठाकुर एवं प्रदेश अध्यक्ष स्व0 श्रीराम सविता के चित्रों पर माल्यार्पण, धूप सुवासन व पंच्चशील ध्वज फहराकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। अमेठी जनपद से पधारे के0पी0 सविता बौद्ध ने बुद्ध वन्दना की। मिर्जापुर से पधारे शम्भूनाथ शर्मा ने कन्याभ्रूण हत्या एवं बेटी पढ़ाओ को जनान्दोलन का रूप देने की बात कही। भानुप्रताप सिंह ने अपने वक्तव्य में कहा समाज को अब नेता पैदा करने की आवश्यकता है नहीं तो हमारा हक दूसरे लोग खाते रहेगें।

वीरेन्द्र कुमार ने कहा कि परिश्रम के बल पर ही उच्चता को प्राप्त कर सकते है। प्रतापगढ़ जनपद से पधारे कमलेश कुमार शर्मा ने कहा कि अब ऐसे आयोजन प्रासंगिक हो गये है।शिक्षक निरंजन प्रसाद ने समाज की व्याख्या की और कहा कि समाज का शाब्दिक अर्थ है सम$आज= समाज। समाज में बराबरी का दर्जा है। शिक्षक दयाशंकर ने कहा कि यदि समाज में कुरीतियां थी तो उन कुरीतियों से लड़ने वाले लोग भी थे हमें उन्हे स्मरण करना चाहिए। इस अवसर पर आदित्यनाथ सेन,रामशील शर्मा, बीडी नन्द, मालती वर्मा, डीपी नन्द, डा0 पीएन ठाकुर, रामनरेश,सुरेश चन्द्र,जीवन मधुर, दया शंकर, गुरू प्रसाद, सचिन, जयनारायण, ओम प्रकाश वर्मा, डा0 कुलदीप,दीपक कुमार,सुधीर कुमार श्रीवास आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here