पंचवटी में काव्य गोष्ठी का किया गया आयोजन

0
117
प्रतीकात्मक

लालगंज/रायबरेली(ब्यूरो)- कस्बे के पंचवटी में किसलय परिवार द्वारा एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमे आए कवियों ने अपनी अपनी रचना पढकर खूब वाहवाही लूटी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा. अविनाश सिंह व रामकरन सिंह रहे।

कार्यक्रम का शुभारम्भ माँ सरस्वती की वन्दना से हुआ। जिसमे आदर्श तिवारी ने पढ़ा- ‘टूटा मंदिर था दिल को बनाने चले थे।’ प्रदीप पाल ने पढ़ा-‘दोस्त साथ है जो फिर डर किस बात का है।’ अमन’दीप’ ने पढ़ा-‘है अभी शेष वक़्त कुछ देर का,रात भी  कुछ ही पल में तो आने को है।’ गरिमा सिंह ने पढ़ा-‘अभी पाकिस्तानी गलियारों में सिंहनाद सुनाना बाकी है।’ राजेन्द्र दीक्षित ने पढ़ा- ‘कद के बढ़ते ही कैफियत से मुकर जाते हैं, जिन्दादिल लोग मिजाजों में ही मर जाते हैं।’ शुभांगी गुप्ता ने पढ़ा- ‘सोचा आज मैं इस जीवन की तलाश करूं।’ अंजनी सिंह ने पढ़ा-‘भूले बिसरे गीतों सा पढ़ा जाता हूं ।’ राजकरन सिंह ने पढ़ा-‘अरे ओ मुसाफिर रुक जा इतनी भी जल्दी क्या है|’ योगेन्द्र सिंह ने पढ़ा-‘जब तक मरते सैनिक देखूं भारत माँ की गोदी में, कैसे कह दूं फर्क बहुत है मनमोहन और मोदी में।’ संचालन योगेन्द्र सिंह ने किया। इस मौके पर महादेव सिंह, अयोध्या प्रसाद, नरेन्द्र आदि सहित तमाम लोग मौजूद रहें ।

रिपोर्ट- गब्बर सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here