राधा-कृष्ण वेषभूषा प्रतियोगिता एवं भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव का आयोजन

0
39

मैनपुरी(ब्यूरो)- सहज एवं सरल भाव से नन्हे-मुन्हे षिषुओं को खेल-खेल में षिक्षा के साथ-साथ प्रतियोगी भावना का विकास करने वाले षिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी, शहर की हृदय स्थली पर सुशोभित विद्यालय सुदिती किड्स स्कूल, मैनपुरी में कक्षा प्लेग्रुप से यू. के. जी. तक के छात्र-छात्राओं के मध्य राधा-कृष्ण वेष भूषा प्रतियोगिता एवं भगवान् श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव का आयोजन किया गया।

ज्ञातव्य है कि जन्माष्टमी के पावन अवसर पर छोटे-छोटे बच्चों को राधा-कृष्ण के सुसज्जित वेष भूषा के परिपेक्ष्य में एक प्रतियोगिता का आयोजन हुआ, जिसमें रंग बिरंगे परिधानों में सजे हुए बच्चे बाल राधा-कृष्ण भगवान् अपने सखा, ग्वाल-गोपियों के साथ रासलीला करते हुए पूरी तरह से सम्पूर्ण विद्यालय परिसर को बृज की ही छटा से सुषोभित कर रहे थे। ऐसा लग रहा था जैसे बृज में भगवान श्रीकृष्ण अपने ग्वाल-गोपियों के साथ मनोहर लीला कर रहे हैं।

राधाकृष्ण की मनोरम छवि के साथ-साथ नन्हे-मुन्ने छात्र-छात्राएं नन्द बाबा एवं यशोदा माता के रूप को भी साकार कर रहे थे। वहीं पर कुछ छात्र-छात्राएं भगवान् श्रीकृष्ण के पिता वासुदेव एवं माता देवकी के स्वरूप का भी अपनी मनोरम छटा से साक्षात् दर्शन करा रहे थे। राधा-कृष्ण, देवकी-वासुदेव एवं यशोदा-नन्द की मनमोहक जोड़ियों को देखकर संस्था के चेयरमैन डा. राम मोहन हर्ष एवं भक्ति भावना से अभिसिंचित हो उठे तथा सभी प्रतिभागियों की भूरि-भूरि प्रषंसा करते हुए कहा कि आज ये छोटे-छोटे बच्चे राधा-कृष्ण, देवकी-वासुदेव एवं यशोदा-नन्द की युगल छवि में अत्यन्त मनमोहक लग रहे हैं। इनके बीच में बैठते हुए मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं स्वयं बाल भगवान् का दर्शन करते हुए उनकी लीला का मनमोहक दृश्य देख रहा हूँ।

समूचे भारत वर्ष में राधा-कृष्ण के प्रेम तथा देष हित में प्रेम के महान त्याग एवं बलिदान की ऐसी मिसाल कहीं और नहीं मिलती। इस तरह के भारतीय संस्कृति से ओतप्रोत क्रियाकलाप कराने से बच्चों के अन्दर धार्मिक आस्था एवं भक्ति भावना जागृत होती है तथा अपने आपको एक विषेष प्रकार से सुसज्जित करने की लगन भी विकसित होती है। कार्यक्रम के सफल आयोजन में कैम्पस कोआॅर्डीनेटर अल्का दुबे सहित अध्यापिकाएं स्वेता चैबे, अतीक्षा दुबे, स्वाती गुप्ता एवं आरजू का सहयोग सराहनीय रहा।

रिपोर्ट- दीपक मिश्रा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY