असली विजेता की तरह खेली सिंधू, पूरे देश को अपनी इस बेटी पर गर्व…

0
1079

pv
रियो ओलंपिक में भारत की पदक यात्रा को जारी रखते हुए देश को बेटी शुक्रवार को हुए अपने फाइनल मुकाबले में असली विजेता की तरह खेली और विश्व की नम्बर एक खिलाड़ी कैरोलिना मारिन को भी इस इतिहास रचने वाली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी. वी. सिन्धु से जीतने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ा |
शुक्रवार को रियो में खेले गए इस बैडमिंटन मुकाबले को शायद ही कोई भारतीय कभी भूल पायेगा, मैच के आखिरी पलों तक पी. वी. सिन्धु ने जीत की उम्मीद को चुत्त्ने नहीं दिया और एक कुशल योद्धा की तरह जी जान लगाकर आखिरी पलों तक संघर्ष करती रहीं, हालाँकि कि भारत की यह बेटी मैच तो नहीं जीत सकी पर सिन्धु ने पूरा मैच एक असली विजेता की तरह ही खेला और मैच के दौरान कई ऐसी मौके भी आये जब स्टेडियम और स्टेडियम के बहार अपने घरों में बैठे करोड़ों भारतीय दिलों ने जीत का एहसास किया |

अपने पहले ओलंपिक में ही रजत पदक जीतकर 21 सालपी. वी. सिंधू ने रियो ओलंपिक में भारतीय महिला एकल बैडमिंटन के इतिहास में एक और सुनहरा पल दर्ज करा दिया है, सिंधू भारत की ओर से महिला एकल बैडमिंटन के फाइनल में पहुँचने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी हैं,

अपनी इस जीत से सिन्धु ने हर भारतीय का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है, और हर भारतीय के चेहरे पर मुस्कान की वजह बन गयी हैं |

सिन्धु की इस बड़ी उपलब्धि के पीछे उनके गुरु पुलेला गोपीचंद का भी महत्वपूर्ण योगदान है, जिन्होंने ना सिर्फ सिंधू बल्कि देश अन्य कई बड़े बैडमिंटन खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया है, बैडमिंटन के द्रोणाचार्य पुलेला गोपीचंद के शिष्यों की लिस्ट में सिंधू के अलावां साइना नेहवाल, श्रीकांत किदांबी, पी कश्यप, गुरुसाई दत्त, तरुण कोना जैसे नाम भी शामिल हैं | सिंधू के गुरु पुलेला गोपीचंद ने कहा था मई जानता हूँ वह अच्छा कर रही है पर अभी कुछ कसार बाकी है और सिंधू ने गुरु की उस बात को अपने सिर पर सजाया और कड़ी मेहनत और लगन से आज पूरे विश्व में देश का सिर गर्व से ऊँचा कर दिया |

अखंड भारत न्यूज़ परिवार पी. वी. सिंधू, उनके गुरु और पूरे देश सिंधू की इस सफलता की बधाई देता है, और पूरे देश से यह अपील करता है कि देश की हर बेटी को आगे बढ़ने और अपने सपने पूरे करने का पूरा अवसर दें, क्या पता आपकी उस बेटी बेटी में देश की दूसरी साक्षी या सिंधू छिपी हो…?

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY