पानी की किल्लत बढ़ने से ग्रामीणों मे रोष, कई जगह उगल रहे गंदा पानी

0
266

वाराणसी/चाँदमारी (ब्यूरो)- जनपद मे जैसे जैसे पारा बढ़ रहा है वैसे ही पानी की समस्या भी बढ़ने लगी है । गर्मी के बढ़ने के कारण वाराणसी जनपद के ग्रामीण अंचलों मे पानी की किल्लत बढ़ने लगी है । विकास खंड हरहुआ के दर्जनों गांवों मे ग्रामीण पानी की समस्या से दो चार हो रहे हैं । कहीं हैण्डपम्प खराब हो गये हैं तो कहीं हैण्डपम्प गंदा पानी उगल रहे हैं । दर्जनों की संख्या मे हैण्डपम्प रीबोर की श्रेणी मे आ चुके हैं लेकिन सम्बन्धित विभाग इन समस्याओं से मुँह फेरे हुए है ।

पानी की समस्या से ग्रामीणों मे काफी रोष है और ग्रामीण समस्या से निजात नही मिलने पर आंदोलन के मूड मे हैं । हरहुआ के बेदी, आयर, पुआरीकला, शिवरामपुर, कुरैली आदि गांवों मे बड़ी मात्रा मे हैण्डपम्प खराब पड़े हैं लेकिन इस समस्या की ओर न तो ग्राम प्रधान ध्यान दे रहे हैं और न ही विभाग सुनने को तैयार है । नतीजा ग्रामीण या तो गंदे पानी पीने को विवश हैं या फ़िर दूर दराज से पानी ढोने को मजबूर है । बेदी गांव के अखिलेश यादव ने बताया की गांव की यादव बस्ती मे एक ही हैण्डपम्प के भरोसे ही पूरी बस्ती निर्भर है ।

उक्त हैण्डपम्प पिछले कई महीनों से गंदा पानी उगल रहा है जो की पीने के लायक नही है लेकिन मजबूरी मे ग्रामीण गंदा पानी पीने को मजबूर है तो साफ पानी की तलाश मे इधर उधर भटकने को विवश हैं । बेदी के ही जय प्रकाश यादव, ओमप्रकाश यादव, लालचंद यादव, प्रभाकर यादव , प्रभावती देवी , सरिता देवी आदि ने बताया की हैण्डपम्प से गंदा पानी आने के कारण पीने के पानी की घोर समस्या उत्पन्न हो गयी है । पानी के लिये दूसरे के घरों पर निर्भर होना पड़ रहा है । वहीं शिवरामपुर की राजभर बस्ती मे भी हैण्डपम्प रीबोर की स्थिति मे है और ग्रामीण पानी के लिये सैकड़ो मीटर दूर से पानी ढोना पड़ रहा है ।

शिवरामपुर के जंग बहादुर राजभर ने बताया की बस्ती मे पानी की घोर किल्लत है और हम लोग सुबह उठने के बाद पानी की व्यवस्था मे लगना पड़ता है । आयर के पंचायत भवन के पास लगा हैण्डपम्प पिछले 6 महीने से खराब पड़ा है जिससे आसपास के सैकड़ो लोग पानी के लिये भटकने को मजबूर है । मजे की बात तो यह है की प्रदेश सरकार खराब हैण्डपम्पो को तत्काल दुरुस्त कराने का निर्देश दिया है लेकिन गांवों मे स्थिति को देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है की शासन के निर्देशों को उसी के अधीनस्थ अधिकारी और कर्मचारी कितनी संजीदगी से लें रहे हैं ।

रिपोर्ट- नागेन्द्र कुमार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here