कश्मीर पर पाक का नया पैंतरा, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को लिखा पत्र भारत पर दबाव बनाने की मांग..

0
1804

 

Prime Minister Nawaz Sharif Of Pakistan Meets Prime Minister David Cameron

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने कश्मीर मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने के लिए एक नयी चल चली है, अचानक ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को कश्मीर में घायल हुए लोगों के इलाज़ की चिंता सताने लगी है, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कश्मीर हिंसा में घायल हुए लोगों को चिकित्सा सहायता मुहैया कराने की पेशकश की है, उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि वे भारत से बात करके हमें पीड़ितों तक इलाज पहुँचाने का अवसर मुहैया करवाएं |

नवाज़ शरीफ ने कश्मीर हालातों को मानवीय संकट करार दिया है, पाकिस्तान विदेश कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि वह कश्मीर में पीड़ितों, खासकर भारतीय सुरक्षा बलों की ओर से पैलेट गन के इस्तेमाल की वजह से आंख में हुए जख्मों के मामलों में इलाज की तत्काल व्यवस्था में मदद करे।

पाक प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने कहा कि कश्मीर हिंसा में घायल हुए लोगों को दुनिया में कहीं भी उपलब्ध बेहतरीन चिकित्सा सुविधा मुहैया करने के मामले में पाकिस्तान स्पष्ट समर्थन है | शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की कि वह कश्मीर में खूनखराबा खत्म करने और इस मानवीय संकट के मद्देनजर पीड़ितों को इलाज तक पहुंच मुहैया कराने के लिए भारत पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करे।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, विदेश मामलों पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने एमएसएफ प्रमुख को पत्र लिखकर कश्मीर में स्वास्थ्य संबंधी आपात परिस्थितियों से अवगत कराया। सलाहकार ने ‘निहत्थे और असहाय नागरिकों पर भारतीय सेना की क्रूरताओं’ के परिणाम स्वरूप जम्मू-कश्मीर राज्य में पैदा हुई मेडिकल आपात स्थिति के बारे में पत्र में लिखा है।

पत्र में मेडिसिन्स सैन्स फ्रंटियर्स से कश्मीर में घायल हुए हजारों लोगों को तुरंत चिकित्सकीय सहायता मुहैया कराने का अनुरोध किया है। सलाहकार ने विशेष रूप से आंखों के सर्जन के जरूरत पर बल दिया है क्योंकि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पैलेट गन के प्रयोग से सैकड़ों की संख्या में लोग घायल हुए हैं। यह अभी ज्ञात नहीं है कि एमएसएफ पत्र पर कैसी प्रतिक्रिया देगा। हालांकि यह पत्र कश्मीर के मामले को अंतरराष्ट्रीय पर उठाने का एक प्रयास है। कश्मीर में हालिया अशांति को लेकर पाकिस्तान और भारत के बीच तनातनी चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here