भारत से युद्ध करके कश्मीर हासिल करने का ख्वाब छोड़ दे पाकिस्तान – पूर्व पाक विदेश मंत्री हिना रब्बानी

0
13738

hina rabbani khar
इस्लामाबाद- पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने पाकिस्तान के एक न्यूज़ चैनल को दिए अपने साक्षात्कार में कहा है कि पाकिस्तान या फिर पाकिस्तान की सेना यह सोचती है कि वह भारत से युद्ध करके, जंग लड़के कश्मीर हासिल कर लेंगे तो यह सोचना भी पाकिस्तान के लिए बेहद गलत होगा | पाकिस्तान अगर यह सोच रहा है तो यह बेहद गलत निर्णय है पाकिस्तान का | उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान भारत के साथ कभी भी युद्ध करके कश्मीर को हासिल कर ही नहीं सकता है |

भारत के साथ केवल बातचीत ही इकलौता रास्ता –
पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री ने जियो न्यूज़ को दिए अपने साक्षात्कार में कहा है कि अब जब हर किसी को यह पता है कि पाकिस्तान कभी भी भारत से युद्ध के जरिये कुछ भी हासिल नहीं कर सकता है तो युद्ध कि आये दिन धमकी देना और परमाणु बम कि भारत को धमकी देना कौन सी बुद्धिमानी है | उन्होंने कहा है कि हमारे पास बस केवल एक ही विकल्प बचता है वह है भारत के साथ बातचीत का | अगर पाकिस्तान बातचीत के जरिये भारत कश्मीर मुद्दे को सुलझाना चाहता है तो यह अवश्य संभव हो सकता है | हिना रब्बानी ने कहा है कि मै आशा करती हूँ और मुझे पूरा विश्वास है कि एक न एक दिन भारत और पाकिस्तान दोनों ही देश बातचीत के जरिये इस मुद्दे को जरुर सुलझा लेंगे |

परवेज मुशर्रफ के कार्यकाल में भारत को बहुत ढील दी गयी थी –
वर्ष 2011 से वर्ष 2013 तक पाकिस्तान की विदेश मंत्री रही हिना रब्बानी खार ने कहा है कि पूर्व पाकिस्तानी सैन्य तानाशाह और राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के समय में भारत को कश्मीर के मुद्दे पर काफी ज्यादा ढील दी गयी थी | खार ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के वजूद पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि आज पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय एक राजनैतिक कार्यालय का रूप ले चूका है वहा से देश के बीमार प्रधानमंत्री को केवल फूल भेजने का ही काम हो रहा है |

हमनें अपने बच्चों को बीते 60 सालों में केवल नफरत करना ही सिखाया है –
पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा है कि हमनें पिछले 60 सालों में अपने बच्चों को बस एक ही बात तो सिखाई है वह यह कि हमें नफरत करना है | हम वैसा ही कर रहे है जो हमारे पास है | भारत और अफगानिस्तान जो हमारे दो पडोसी देश है दोनों के साथ हमारी दुश्मनी है | हमारी विदेश नीति ऐसी नहीं होनी चाहिए | हमारी नीति देश की सेवा करने के लिए होनी चाहिए न कि पॉवर के पीछे भागने वाली होनी चाहिए |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here