पाकिस्तान में महिलाओं को लेकर इस्लामिक संस्था की सलाह, अगर महिलाएं सेक्स करने से करें मना तो उन्हें पीट सकते है पति

0
3799

इस्लामाबाद- पाकिस्तान की एक संवैधानिक संस्था काउंसिल ऑफ़ इस्लामिक आइडियोलॉजी (सीआईआई) ने इक विधेयक की सिफारिश की है | इस विधेयक की पाकिस्तान सहित पूरी दुनिया में ख़ासा विरोध हो रहा है दरअसल आपको बता दें कि यह विधेयक महिला अधिकारों का हनन करने वाला, उनकी स्वतंत्रता पर रोक लगाने वाला या फिर कहे तो यह एक महिला विरोधी विधेयक है |

क्या है सीआईआई-

काउंसिल ऑफ़ इस्लामिक आइडियोलॉजी (सीआईआई) पाकिस्तान की एक ऐसी संस्था है जो कि पाकिस्तान को इस्लामिक कानून बनाने में एक सलाहकार की भूमिका निभाती है | इस्लामिक कानून बनाने के लिए यह संसद को प्रसताव भेजती है | बता दें कि हाल ही सीआईआई ने पाकिस्तान की पंजाब सरकार द्वारा बनाये गए महिला संरक्षण विधेयक को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि यह विधेयक गैर इस्लामिक है | पंजाब सरकार के विधेयक को खारिज करने के बाद सीआईआई ने नया विधेयक बनाया है अब जिसे वह एक प्रस्ताव के रूप में पंजाब सरकार को भेजने वाली है |

क्या है विधेयक की ख़ास बातें –
1. सीआईआई के विधेयक के अनुसार कोई भी महिला नर्स किसी पुरुष मरीज को नहीं देख सकती है |
2. प्राथमिक स्कूल के बाद लड़कियां और लड़के एक ही स्कूल में नहीं पड़ने चाहिए |
3. महिलाएं किसी भी सैन्य अभियान का हिस्सा नहीं होनी चाहिए |
4.महिलाओं को पति की पसंद से ही कोई भी कपडे पहनने पड़ेंगे |
5.जब भी पुरुष अपनी पत्नी के साथ सेक्स करना चाहें महिलाओं को सेक्स करना होगा अगर वे मना करती है तो पुरुष उन्हें पीट सकते है |
6. विधेयक में महिलाओं का विदेशी प्रतिनिधि मंडलों की अगुवानी करने से रोक लगाया गया है |
7. सीआईआई के अनुसार यदि कोई महिला किसी अन्य ब्यक्ति के साथ अपने पति को छोड़कर कही भी बाहर जाती है तो उसका पति उसे पीट सकता है |
8.विधेयक में यह भी कहा गया है कि यदि कोई महिला हिजाब नहीं पहनती है, किसी भी अजनबी से बातचीत करती है या फिर अपने पति की इज़ाज़त के बगैर किसी भी ब्यक्ति की आर्थिक मदद करती है तो उसका पति उसकी पिटाई कर सकता है |
9 अगर पत्नियाँ अपने पति का कहना नहीं मानती है तो उनके पति को इस बात की इज़ाज़त दी जाती है कि वे अपनी पत्नी की पिटाई कर सकते है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here