भारत ने ईरान और अफगानिस्तान को साथ मिलाया तो पाकिस्तान की उड़ गयी नींद

0
7159

इस्लामाबाद- हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अपनी ईरान यात्रा के दौरान भारत, ईरान, अफगानिस्तान के साथ कई अहम् समझौते किये है | इन तीनों देशों के मध्य चाबहार पोर्ट को विकसित करने का भी समझौता हुआ है | लेकिन चाबहार बंदरगाह के समझौते से पूरे पाकिस्तान की नींद उडी हुई है | अगर पाकिस्तान के रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच हुए इन समझौतों के बाद पाकिस्तान बिलकुल अलग-थलग पड़ जाएगा | साथ ही पाकिस्तान के रक्षाविशेषज्ञों का मानना है कि भारत के द्वारा किये गए यह समझौते पाकिस्तान के लिए किसी खतरे से कम नहीं है |

पाकिस्तानी रक्षा सचिव ने कहा यह पाकिस्तान के लिए है खतरा-
पाकिस्तानी अख़बार द डॉन के मुताबिक पाकिस्तान के पूर्व रक्षा सचिव लेफ्टिनेंट जनरल यासीन मलिक और लेफ्टिनेंट जनरल नदीम लोधी ने स्थानीय विजन इंस्टिट्यूट की और से सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा और दक्षिण एशिया में स्थिरता के के विषय पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह बात कही है कि भारत और ईरान तथा अफगानिस्तान के बीच हुए इस तरह के समझौते पाकिस्तान के लिए बेहद खतरनाक है |

क्या कहा है यासिन मलिक –
भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच हो रहे गठबंधन पाकिस्तान के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकते है | उन्होंने कहा है कि स्थानीय वैश्विक हालातों को देखते हुए मुझे ऐसा लग रहा है कि अब पाकिस्तान बिलकुल अलग-थलग पड़ता जा रहा है | पाकिस्तान की नीतियों के ऊपर ऊँगली उठाते हुए लेफ्टिनेंट जनरल यासिन मलिक ने कहा है कि इसके पीछे की प्रमुख वजह पाकिस्तान की खुद की गलतियाँ है, वही दूसरी तरफ दुसरे देशों की प्रतिकूल नीतियाँ है | पूर्व रक्षा सचिव ने कहा है कि इसके साथ ही पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की निष्क्रियता भी इसके पीछे की एक वजह है |

क्या जनरल लोधी ने –
पाकिस्तानी सेना के पूर्व रिटायर्ड जनरल लोधी ने कहा है कि हमारे पड़ोस में इस तरह का गठबंधन पाकिस्तान के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है | इसके बेहद दूरगामी परिणाम हो सकते है | जनरल नदीम लोधी ने चिंता जताते हुए कहा है कि तीनों देशों का गठबंधन पाकिस्तान के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है | उहोने कहा है कि तीनों देशों की गठबंधन से पाकिस्तान की आर्थिक एकीकरण, आंतरिक सुरक्षा आदि के लिए बेहद खतरनाक साबित होगा | उन्होंने कहा है कि हमें इस मामले से खुद को बाहर निकलना होगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here