पाकिस्तान ने भारत के सभी दावों की एक बार फिर से उड़ाई धज्जियाँ, कहा पठानकोट हमले में नहीं है जैश-ए-मोहम्मद का हाथ

0
288

दिल्ली- हमेशा की ही तरह से इस बार फिर से पाकिस्तान ने भारत के सभी दावों की बुरी तरह से धज्जियाँ उड़ाते हुए साफ़ तौर पर यह कह दिया है कि जनवरी के पहले सप्ताह में पठानकोट एयरबेस पर हमले में पाकिस्तान में स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ नहीं है I पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के द्वारा बनायीं गयी जांच टीम ने साफ़ किया है कि भारत के पंजाब स्थित पठानकोट एयरबेस में हुए हमले में जैश-ए-मोहम्मद का कोई भी हाथ नहीं है I पाकिस्तान की जांच टीम का कहना है कि हमें ऐसे कोई भी सबूत नहीं मिले है जिससे यह साबित होता हो कि इस हमले में पाकिस्तान में स्थित संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है I जबकि प्रारंभ से ही भारत इस हमले में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अज़हर के होने की बात कह रहा है I

पाकिस्तान के एक चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक फ़िलहाल पाकिस्तान के इस जवाब पर भारत की तरफ से अभी तक कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी गयी है I आपको ज्ञात ही होगा कि भारत ने पठानकोट हमले में पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के शामिल होने के पुख्ता सबूत पहले ही पाकिस्तान को दे चुका है I जबकि पाकिस्तान की तरफ से जारी हालिया बयान और पाकिस्तान की हरकतों से एक बात तो साफ़ हो रही है कि फिलहाल पाकिस्तान मौलाना मसूद अज़हर के खिलाफ किसी भी प्रकार की कोई भी कार्यवाही करने के मूड लग नहीं रहा है I भारत ने आरोप लगाया था कि जिन 6 आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला बोला था उन सबको मौलाना मसूद अज़हर ने भेजा था I

पठानकोट हमले में 4 या फिर 6 आतंकी शामिल थे NIA को इस पर है शक

पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा कि फिलहाल फोन रिकार्डों की जांच नहीं हुई है –
ज्ञात हो कि भारत ने प्रारंभ से ही पाकिस्तान को इस बात के सबूत के कई सबूत दिये है कि जिन आतंकियों ने भारत के पठानकोट एयरबेस पर हमला किया था वह सब के सब पाकिस्तान से आये थे और इतना ही नहीं भारत ने यह भी साफ़ किया है कि आतंकियों में भारत में आने के बाद अपने हैंडलर से भी बात की थी जिसकी डिटेल्स भी भारत ने पाकिस्तान को सौंप दिए है I भारत ने प्रारंभ से यह भी कहा है कि एक आतंकी ने तो यहाँ से अपनी माँ से भी बात की थी जिसके भी सबूत भारत सरकार ने पाकिस्तान को सौंप दिए I भारत ने पाकिस्तान को इस बाबत जो सबूत सौंपे हैं, उनमें पठानकोट में घुसे आतंकियों के फोन रिकॉर्ड भी शामिल हैं I हालांकि, पाकिस्तान ने कहा है कि फोन रिकॉर्ड समेत कुछ सबूतों की अभी तक जांच नहीं की गई है I

हमले में भारत के 7 जवान शहीद हुए थे –
बता दें कि साल कि शुरुआत में ही हुए इस आतंकी हमले में भारत ने अपने 7 वीर सिपाहियों को गवां दिया था जिसमे से एक NSG के कमांडों भी शामिल थे I यह भी बताते चलते है कि पाकिस्तान ने हमले के तुरंत बाद ही इस हमले पाकिस्तान की तरफ से किसी भी ब्यक्ति के शामिल होने से साफ़ मना कर दिया था और इतना ही नहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को फोन करके इस पूरे मामले में दुःख भी जताया था और साथ ही यह इस बात का भरोसा भी दिलाया था कि वह इस पूरे मामले में पूरी जांच करवाएंगे और न्याय होगा I लेकिन अब पाकिस्तान की तरफ से जारी बयानों से एक बात तो साफ़ हो गयी है कि वह कुछ नहीं करने वाला है और हमेशा की ही तरह इस बार भी पाकिस्तान धोखा दे रहा है I

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here