पैसे के आभाव में पारा टीचर की मौत

0
68

बरवाअड्डा(ब्यूरो)- एनपीएस रजवार टोला देवली विद्यालय के पारा शिक्षक देवली रजवार टोला निवासी उम्र 32 वर्ष धारून गोप की हृद्वय गति रूक जाने से उनकी मौत हो गयी। वे लगभग एक महिने से मधुमेह बीमारी से ग्रस्त  थे।  पारा शिक्षक को चार माह से मानदेय नहीं मिला था। अचानक उसे बुधबार को सीने में दर्द उठा उसे धनबाद पीएमसीएच में भर्ती कराया। जहां उसे बाहर दिखाने की सलाह दी लेकिन पैसे के आभाव में वह नहीं ले जा पाया और उसे घर ले आया। सुबह पांच बजे उसकी मौत हो गयी। पैसे के आभाव में ठीक ढंग से ईलाज नहीं हो  पाया। जिससे उसकी मौत हो गयी। अगर समय पर इन्हें मानदेय मिला होता तो वे आज जिंदा रहते । श्रीगोप अपने पीछे पत्नी उषा देवी, 8 वर्षीय पुत्री तनु कुमारी, माता-पिता को छोड़ गया।

पारा शिक्षक की मौत की खबर सुनकर संघ जिला अध्यक्ष अश्विनी सिंह, छुटुलाल कुम्भकार, बिजय सिंह चौधरी, अशोक कुमार सिंह चौधरी, गणेश चन्द्र कुम्भकार, निताय चन्द्र पाल, उतम कुमार पाल, मनोज कुमार पाल, श्रीकांत पाल, जितेन गोरांई, मनोज गोप, अंम्बिका मंडल आदि अंतेष्ठि में शामिल हुए। खबर सुनते ही मौके पर समाजसेवी युवा नेता मन्नु आलम व टाईगर फोर्स जिलाध्यक्ष धर्मजीत सिंह ने बीडीओ संजीव कुमार से उक्त घटना की जानकारी दी| उन्होनें कहा कि सरकार द्वारा परिवारिक लाभ, प्रधानमंत्री आवास, विधवा पेंशन, लाल कार्ड दिलाने की मांग की है। श्री कुमार ने कहा कि सरकारी लाभ लेने वालों को किसी तरह की सरकारी लाभ नहीं मिल पायेगा। पारा शिक्षक की स्थिति काफी दयनीय है इसलिए हर संभव सहयोग करेगें। मुखिया माला रजवार व पति शांति राम रजवार व वार्ड सदस्य जया देवी योगेन दास व आस पास के ग्रामीण पहुंचे। श्री बीडीओ को घटना की जानकारी दी ।

रिपोर्ट- संतोष कुमार राय

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY