परिजन तैयार हो तो अपने खर्च पर बनाऊंगी एथलीट: सुधा सिंह

0
96

रायबरेली (ब्यूरो)- सड़क हादसे में मारे गए शिवराम की अनाथ हुई बेटी प्रीति की मदद में एथलीट सुधा सिंह ने भी हाथ बढ़ाए हैं। उन्होने प्रीति को एथलीट बनाने का प्रस्ताव किया है। उन्होने कहा कि अगर उनके परिवारवाले राजी हुए तो उसे अभी से खेल के प्रशिक्षण से जोड़ा जाएगा।

मिल एरिया थाने के गढ़ी खास की रहने वाले शिवराम, उसकी पत्नी, दो बेटियों और एक एक साल बेटे की सड़क हादसे में बीती 29 मई को दर्दनाक मौत हो गई थी। शिवराम की छह साल की बेटी प्रीति ही अब परिवार में बची है। घटना के वक्त वह मौसी के घर में थी। इसीलिए बच गई। प्रीति अब अपनी दादी के साथ रह रही है।

इस दर्दनाक हादसे के बाद यूथ एक्टिीविटी फोरम तीसरे बड़े मंगल पर आयोजित भंडारा निरस्त कर भंडारे की राशि प्रीति के नाम जमा करने का संकल्प लिया और शहर के लोगों से प्रीति की मदद को अनुराध भी। फोरम के इस प्रयास को बल जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अभिषेक उपाध्याय ने दिया और वह प्रीति से मिलने उसके घर भी गए। फोरम की अपील पर ही एशियन गेम्स विजेता एथलीट सुधा सिंह ने प्रीति को खिलाड़ी बनाकर उसका भविष्य संवारने का प्रस्ताव रखा है।

उनका कहना है कि पहले उसे रायबरेली में ही प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके बाद उसे हॉस्टल से जोड़कर एथलीट बनाया जाएगा। सुधा सिंह के इस प्रस्ताव पर फोरम ने स्वागत किया है। फोरम के सदस्यों ने प्रीति के परिवारवालों से इस संबंध में बात करने का भरोसा दिया है।

रिपोर्ट- राजेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here