परिणाम के लिए दर-दर भटक रहें हैं 2013-14 के बीएड प्रशिक्षु

बलिया(ब्यूरो)- रक्सा स्थित किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय में शैक्षिक सत्र 2013- 14 के एक दर्जन बीएड प्रशिक्षु आज तक परीक्षा परिणाम जानने के लिए दर-दर भटक रहे हैं| लगभग 3 वर्षों से परिणाम रुका होने के कारण बीएड प्रशिक्षु कहीं भी प्रवेश नहीं ले पा रहे हैं| उनमें से अधिक टेट की परीक्षाओं को भी उत्तीर्ण कर लिये है, परंतु बीएड का परिणाम न आने के कारण वे मायूस हैं तथा अन्य किसी प्रतियोगी परीक्षा के लिए आवेदन करना भी इनके लिए मुसीबत जैसा है|

2013- 14 में लगभग एक दर्जन छात्र छात्राओं ने प्रबंधकीय कोटे के तहत एक वर्षीय बीएड प्रशिक्षण के लिए अपना प्रवेश किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय रक्सा, रतसर में लिया था| 2014 में इन्होंने परीक्षा भी दिया लगभग 3 वर्ष बीत जाने के बाद भी एक दर्जन प्रशिक्षुओं का आज तक परिणाम नहीं मिला, जबकि उनके साथ ही अन्य का परिणाम मिल गया है|

इस दौरान प्रशिक्षुओं का एक प्रतिनिधिमंडल प्राचार्य अशोक सिंह से भेंटकर अपनी समस्या रखा तो प्राचार्य ने कहा कि उस सत्र में पूरे प्रदेश में जितने भी प्रबंधकीय कोटे से छात्र छात्राओं ने प्रवेश लिया था, सब का परिणाम रुका हुआ है| वहीं कारण बताने से प्राचार्य बचते रहे कि क्यों परिक्षा परिणाम रुका है|

इतने लंबे इंतजार के बाद अब छात्र-छात्राओं का सब्र का बांध टूटता जा रहा है| अब छात्र-छात्राएं सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल अपनी समस्या को रखने का मन बना रहे हैं| सुशील कुमार यादव, सविता सिंह, प्रिति गुप्ता, संगीता, वंदना सिंह,  सुनिल कुमार, संतोष आदि ने परीक्षा परिणाम तत्काल घोषित करने की मांग किया है|

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY