घरेलु हिंसा मामलों के निपटारे के लिए चलायी जा रही परामर्श सुनवाई में भेदभाव का शिकार हो रहे पुरुष

0
214

WhatsApp Image 2017-01-15 at 4.58.44 PM
इटावा – इटावा जनपद के हर माह के पहले बुधवार और तीसरे रविवार को होने वाले परिवार परामर्श मैं आज 75 फाइलों के पीड़ितों की सुनवाई हुई।जिसमें देखने को मिला कि परिवार परामर्श के अधिकारी व सदस्य गणों के द्वारा पीड़ित लड़की पक्ष की ज्यादा सुनवाई की जाती है। जबकि लड़के पक्ष को ज्यादा नहीं सुना जाता, पर लड़की की ज्यादा बात को मानी जाती है और महत्व भी दिया जाता है। जबकि ऐसा लड़के के पक्ष में कोई भी बोलने वाला नहीं है कहना है कि लड़कियाँ सही बोलती है लड़के नहीं कहीं ना कहीं परिवार परामर्श में भेदभाव की भावनाएं समझ में आती हैं और देखी भी जा सकती है।

फ़िलहाल 75 फाइलों के पीड़ितों को सुनकर अग्रिम दिनाँक 1 फरवरी 2017 की दी गई।और किसी किसी का समझौता करवा कर के 19 फरवरी 2017 को एक साथ में जोड़े को आने को कहा गया। देखना यह है की जिन जोड़ों को पति पत्नी एक साथ में गए है। क्या वह 19 फरवरी तक सही ढंग से रह पाएंगे या फिर परिवार परामर्श के अधिकारी व सदस्यगण के द्वारा मुकदमा पंजीकृत करवाना पड़ेगा। इस मौके पर सीओ सिटी राघवेंद्र सिंह राठौर व महिला थाना अध्यक्ष विनीता सारथी व् एसआई पूनम वर्मा और परिवार परामर्श के सदस्य गण मौजूद रहे।

रिपोर्ट – सुशील कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here