जिला अस्पताल पण्डित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय मे डाक्टरों व नर्सों की लापरवाही से इलाज के दौरान मरीज लपाता

0
120

वाराणसी (ब्यूरो) रविवार की रात पण्डित दीनदयाल अस्पताल मे डाक्टर व नर्स (सिस्टर )सहित डियुटी मे समय पर मौजूद अन्य स्टाफ की लापरवाही से इलाज के दौरान मरीज लपाता हुआ ।आपको बताते चले की 17/6/17की रात्री को आर पी एफ जवान के बर्बता का शिकार 70 वर्षीय बृद्ध ।वृद्ध पर बरसाये दर्जनों लाठियां जीवन और मौत के बीच जूझ रहा था वृद्ध।पं.दीनदयाल अस्पताल मे डाक्टर व नर्स की लापरवाही से इलाज के दौरान मरीज लपाता । .

शिवपुर स्टेशन पर आर पी एफ़ के जवान महेंद्र यादव द्वारा बीते दिन शनिवार 17/6/17 को रात्री मे 70 वर्षीय बुजुर्ग को आरपीएफ पुलिस द्वारा बेरहमी से पीटा गया था जिसकी स्थिति नाजुक थी और उसे बेहोशी की हालत मे 108 नम्बर एम्बुलेंस से पं. दीनदयाल अस्पताल मे भर्ती कराया गया था,अस्पताल मे डा.पी के सिंह की देखरेख मे अज्ञात वृद्ध का इलाज चल रहा था ,लेकिन आज वह मरीज अस्पताल से गायब है ,इस सम्बंधित जब डा. पी के सिंह से जानना चाहा तो वह अस्पताल मे नही थे ,तब उनके सी यू जी नम्बर पर सम्पर्क करना चाहा तो फोन तक नही उठा,रजिस्टर मे कही भी मरीज ने जाने के लिये कही हस्ताक्षर तक नही किया है इस बावत स्टाफ नर्स ने बताया की मरीज भाग गया है जबकि मरीज की हालत रात मे बेहोश था और उसको काफी चोट भी लगा था ,ऐसी स्थिति मे 70 वर्ष का बुजुर्ग भाग जाता है गले से नीचे उतरने वाली बात नही है ,सवाल यह उठता है अगर ऐसा हुआ भी है तो इसका जिम्मेवार कौन है । होश आने पर उसका नाम पता क्यों नही पूछा गया । अज्ञात मरीज को इमरजेंसी वार्ड मे 04 नम्बर वेड मिला था ।

डाक्टर की घोर लापरवाही से अस्पताल मे मरीज सुरक्षित नही है ।यहाँ दीनदयाल अस्पताल मे मरीजों का ख्याल नही रखा जाता यहाँ पर दीनदयाल अस्पताल मे मरीजों के संग डाक्टर के साथ नर्स भी ठिक से बात नही करती है और तो अौर दवा दवा जो मरीजों को डाक्टर देने के लिये कहते वो भी मरीजों के टेबल से नर्स उठा ले जाती है तो जब आम स्वस्थ इंसान के साथ थोड़ा तबीयत बिगड़ जाने परदीनदयाल अस्पताल के नर्स और डाक्टर ध्यान नही देते है तो बेहोश व अज्ञात (लावारिस )मरीजो का क्या ध्यान देंगे यह लोग मरीज का हॉस्पिटल के अंदर गायब होना अपने आप में एक अजीब पहेली बनी हुई है

रिपोर्टर – रवींद्रनाथ सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here