सपा के गढ़ में शांतिपूर्ण ढंग से 65.63 प्रतिशत हुआ मतदान

0
120

IMG-20170219-WA0158
कन्नौज : जिले में विधानसभा का चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। मतदाता सुबह से लेकर शाम तक लाइन में लगकर मतदान करते रहे। सपा के गढ़ में युवाओं, महिलाओं और बुजुर्गों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। जिले में 65.63 प्रतिशत मतदान हुआ है। जिला निर्वाचन अधिकारी समेत प्रेक्षक व पुलिस अधीक्षक पूरे दिन मतदान केंद्रों का निरक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। जिससे किसी भी स्थान पर अप्रिय घटना प्रकाश में नहीं आ सकी।

विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में जिले की तिर्वा व छिबरामऊ और सदर विधानसभा में चुनाव शांति पूर्ण ढंग से संपन्न हुआ। मतदान के दौरान कुछ स्थानों पर मतदाता सूची में नाम न होने और एक-दूसरे पर जबरिया वोट डलवाने का आरोप लगाने के कारण मतदाताओं में अफरा-तफरी का माहौल देखा गया। वहीं दूसरी ओर तालग्राम विकास खंड के बूथ संख्या 326 बबलिया मतदान केंद्र ईवीएम मशीन की तकनीकी खराबी के कारण मतदान दो घंटे देर से शुरू हो पाया। ईवीएम मशीन की तकनीकी खराबी के कारण जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देशन में ईवीएम मशीन बदली गई। जिले की तीनों विधानसभाओं में सुबह से ही बूथों पर मतदाताओं की लंबी लाइनें लग गईं और मतदान की रफ्तार काफी तेज रही। सात बजे से नौ बजे तक जिले में कुल 11 प्रतिशत और इसके बाद सुबह 11 बजे तक 26.5 प्रतिशत मतदान हो गया था। दोपहर बाद मतदान में सुस्ती आई और 44 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि तीन बजे 54.33 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। मतदान प्रक्रिया के अंतिम समय तक जिले में कुल 65.63 फीसदी मतदान हुआ। पहली बार वोट ड़ालने वाले युवक युवतियों में काफी जोश दिखा। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में भी लोकतांत्रिक चुनावी महापर्व उत्साह के साथ शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। युवाओं, वृद्धों, महिलाओं, युवक, युवतियों ने जमकर मतदान में भागीदारी कर मतदान की शपथ पहले मतदान फिर जलपान ग्रहण किया। कुछ बूथों पर छुटपुट नोक-झोंक के साथ मतदाताओं के बीएलओ पर्चियों, पहचान पत्रों के मामले में बड़े पैमाने पर खामियों के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। तिर्वा विधानसभा के बहोसी मतदान केंद्र पर मतदाताओं द्वारा बहिष्कार किए जाने से प्रशासन हलकान रहा। प्रशासन के असफल होने के बाद मौके पर पहुंचे जनप्रतिनिधियों ने समझा-बुझाकर मतदान शुरू कराया। इस दौरान तकरीबन तीन घंटे तक मतदान बाधित रहा। जिले में मतदान को पूर्ण रुप से शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिहाज से जिला निर्वाचन अधिकारी जगदीश प्रसाद व पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार सहित कई प्रशासनिक अधिकारियों ने निरीक्षण किया।

फर्जी वोट डालने वालों पर रही खास नजर

जिले में विधानसभा चुनाव के मतदान के दिन प्रशासन की खास नजर फर्जी वोट डालने वाले लोगों पर रही। यहीं कारण रहा कि इस बार मतदान केंद्रों पर फर्जी वोट डालने का मामला प्रकाश में नहीं आया। शहर के मतदान केंद्र एसबीएस इंटर कालेज और जेपी इंटर कालेज में कुछ लोगों द्वारा फर्जी वोट डलवाने की शिकायत मिलते ही मौके पर भारी संख्या में पुलिस ने पहुंच कर पूछतांछ की। इससे पहले फर्जी वोट डालने का प्रयास करने वाले फरार हो गए।

सदर विधायक अनिल दोहरे की गिरफ्तारी की उड़ी अफवाह

जैसे-जैसे जिले में मतदान प्रक्रिया का प्रतिशत बढ़ता रहा वैसे ही अफवाहों का भी बाजार गर्म होता रहा। कुछ अराजकतत्वों में सदर विधानसभा से प्रत्याशी और विधायक अनिल दोहरे की तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के रतापुर्वा मतदान केंद्र से गिरफ्तारी की अफवाह फैला दी। इससे अधिकांश लोग भ्रमित हो गए। प्रशासन के संज्ञान में मामला आने के बाद पुलिस अधीक्षक ने बताया कि किसी को भी हिरासत में नहीं लिया गया था। अफवाह फैलाने वाले लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

एसपी के काफिले की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त

मतदान केंद्रों का निरीक्षण करते समय जीटी रोड पर पुलिस अधीक्षक के काफिले में शामिल एक कार के सामने अचानक ट्रैक्टर आ गया। तेज गति के चलते कार और ट्रैक्टर के बीच जबरजस्त भिड़त हो गई। फिलहाल दुर्घटना में किसी भी प्रकार से कोई चोटिल नहीं हुआ।

रिपोर्ट – सुरजीत सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here