किशनी नगर पंचायत में गंदगी में रहने को मजबूर लोग

0
180


मैनपुरी ब्यूरो : किशनी में जब कोई कार्यक्रम हुआ समाज बादी पार्टी के हर से मंच से नगर पंचायत किशनी का नाम विकाश के साथ जोड़ कर देखा गया माननीयो द्वारा मुखर सब्दो में कहा गया की किशनी नगर पंचायत को जितना पैसा बिकास के नाम पर मिला उतना सायद ही किसी नगर पंचायत को मिला हो पर आज भी इस बिकास के माहोल में गन्दगी अपने पेर निरंतर पसारती जा रही है इस की बानगी तब देखने को मिली जब गंदगी से भरे पड़े नाले को देख लोग प्रदर्शन करते देखने को मिले |

किशनी पुराने विधूना बस स्टैंड ग्वालियर बरेली मार्ग के किनारे बनाये गए नाले नगर पंचायत किशनी की उपेछा के शिकार हो रहे है इन नालो की कोई सफाई नहीं हो रही है आलम यह है की नालो में पानी सड रहा है पालीथिन की थेलियो से भरे पड़े नालो में मच्छरों की फोज तेयार होती है जो शाम होते ही आने जाने बालो के साथ साथ मुहल्ल्रे बालो दुकानदारो के लिये मुसीबत का सबब बन जाती है गन्दगी का आलम यह है की नाले से उठती बदबू लोगो को नाक पर कपडा रखने को मजबूर कर देती है इस नाले के पास गरीबो के भोजनालय ब मिठाई की दुकाने तथा नाईयो की काफी दुकाने है जब भी लोग यहाँ आते है उन्हें मच्छरों से मजबूरन रक्त दान कर मलेरिया मुफ्त स्कीम लेंनी पड़ती है अब लोगो की मजबूरी है की गन्दगी के बीच भोजन ग्रहण करना पड़ता है इस गन्दगी के बीच मजबूर होकर ब्यबसाय करने बाले दुकानदारो ने जम कर प्रदर्शन किया लोगो का कहना है की देश का प्रधानमंत्री ब मुख्यमंत्री हाथो में स्व्च्छ भारत मिशन की कमान सम्हालते हुए गंदगी से जंग लड़ रहे है किशनी नगर पंचायत सब कुछ जानते हुए अनजान बनी हुई है लोगो द्वारा बार बार नगर पंचायत पर शिकायत करने के बाद कोई सफाई करने नहीं आता लोगो का कहना है कि किसी एक विशेस दिन सफाई कराने से सफाई नहीं हो सकती इसके लिये समुचित प्रयास करने होगे प्रदर्शन करने बालो में राजेश दिवाकर ,हुब्ब लाल ,लालू, अस्वनी, बंटी सविता, छोटेलाल सविता, दलीप, रनजीत, सुबाश, मिजाजी लाल, आदि लोगो इस नरकीय जीवन से मुक्ति दिलाने की जिलाधिकारी से गुहार लगायी है |

रिपोर्ट – आशीष सक्सेना

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY