तहसीलदार न्यायिक कोर्ट में लगातार बदलते प्रस्तावों से लोग परेशान

0
98


उन्नाव ब्यूरो : पुरवा तहसील में तहसीलदार कोर्ट एवं तहसीलदार न्यायिक कोर्ट मे अधिकतर हो रहे प्रस्ताव से आये दिन लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है | ऐसे में गरीब आदमी, रोजगारपरक आदमी एवं व्यापार करने वाले आदमी जब-कब आकर वापस निराश होकर लौट जाते है | कोर्ट के कर्मचारियों के पास जाने पर वही जवाब हर बार मिलता है कि क्या करे प्रस्ताव आ गया है और पेशकार भी आदमी और पैसा देखकर मनचाही तारीख देते रहते हैं ।

इस सम्बन्ध में जब पुरवा तहसीलदार संगम लाल गुप्ता से बात की गयी की इस तरह लगातार हो रहे प्रस्ताव से तहसीलदार कोर्ट की कार्यवाही बाधित हो रही है व् इससे चक्कर लगा कर लोग परेशान हो रहे है तो तहसीलदार साहब का भी येही जवाब था की हम क्या करे अधिवक्ता प्रस्ताव करवा देते है एवं इस सम्बन्ध में कोई सही उत्तर नही मिल पाया ऐसे हाल में लोग तारीख पर आकर बिना सुनवाई के सिर्फ तारीख लेकर चले जाते है एक पीड़ित से पूछने पर पता चला कि उनका मामला जून से लंबित चल रहा है एवं तारीख पर तारीख मिलती है और तब से अब तक उनको जितनी भी तारीख मिली उनमे से उनकी सुनवाई सिर्फ दो बार हुई बाकि कभी तहसीलदार साहब नही बैठे है कभी जाँच पर गये है या वही बात अधिकतर प्रस्ताव हो गया है |

अब सवाल यह था की क्या उनको कर्मचारियों द्वारा वही तारीख मिलती है जिसमे प्रस्ताव होना होता है या साहब को छुट्टी पर जाना होता है पर इस बात का कोई सही उत्तर किसी के द्वारा नही मिला और न ही इस समस्या का कोई हल मिला परन्तु ऐसे हाल में लोगो को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा इससे लोगो का समय, पैसा एवं रोजगार का नुकसान होता है व् नौकरी पेशा व्यक्तियों को छुट्टी लेके आना पड़ता है इसी प्रकिया के चलते ज्यादातर मामले लम्बे समय तक लंबित रहते है और लोग परेशान होकर चक्कर लगते रहते है। ऐसी न्यायिक व्यवस्था से लोगो को दिक्कतो का सामना कर पड़ रहा है और कई साल चक्कर लगाकर हालत खराब हो रही है।

रिपोर्ट – संदीप कुमार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY