एसडीएम शीतला प्रसाद यादव के स्थानान्तरण की खबर के बाद जनता में मायूसी

0
86

जालौन ब्यूरो : जनता की समस्याओं का तत्परता से निदान करने एवं सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तिओं तक पहुंचाने के चलते लोकप्रिय हो चुके एसडीएम शीतला प्रसाद यादव के स्थानान्तरण की खबर के बाद जनता में मायूसी है। नगर व क्षेत्र के लोगों ने जिलाधिकारी से एसडीएम के स्थानान्तरण को वापस लेने की मांग की है।

शुक्रवार की दोपहर जिलाधिकारी संदीप कौर ने जालौन एसडीएम शीतला प्रसाद यादव का स्थानान्तरण माधौगढ़ कर दिया। उनके स्थानान्तरण की खबर जैसे ही जनता को लगी, तो जनता में मायूसी छा गई। उरई में सिटी मजिस्ट्रेट से स्थानान्तरित होकर आए नगर में आए उपजिलाधिकारी ने अपने नौ माह के कार्यकाल में अपनी कार्यशैली व मधुर व्यवहार के अलावा जनता की समस्याओं को तसल्ली से सुनने एवं उनका विना किसी भेदभाव के त्वरित निस्तारण किए जाने से उनकी जनता के बीच एक लोकप्रिय अधिकारी की छवि बन गई थी।

विधानसभा चुनावों को शांति पूर्वक संपन्न कराने, गांव गांव जाकर लोगों से मिलकर उनकी समस्याओं का समाधान करने एवं मुश्किल परिस्थितियों का डटकर सामना करने के कारण जनता के बीच उनकी पकड़ मजबूत होती गई। सूमाजसेवी गोपाल शरण मिश्रा, सुबोध प्रजापति, अशफाक राईन, सुनील त्रिपाठी, विनय माहेश्वरी, विपुल दीक्षित, कपिल कश्यप, बटुकनाथ शुक्ला, प्रशांत सहाव, अनुराग अग्रवाल, दीपक सोनी, मनोज गुप्ता, महेंद्र शिवहरे, जहांगीर आलम, जाफर सिददीकी आदि का कहना है कि उपजिलाधिकारी शीतला प्रसाद यादव की कार्यशैली से जनता संतुष्ट थी। जनता की समस्याओं का समाधान हो रहा था एवं उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ भी मिल रहा था। उनके स्थानान्तरण से नगर व क्षेत्र की जनता में मायूसी है। नगर व क्षेत्र की जनता ने जिलाधिकारी संदीप कौर से मांग करते हुए कहा कि अचानक से हटाए गए एसडीएम को वापस नगर में तैनाती दी जाए। अन्यथा की स्थिति में जनता को उनकी वापसी के लिए लोकतांत्रिक ढंग से आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ेगा।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here