पानी की बूँद-बूँद के लिए तड़प रहे बुंदेलखंड को केंद्र ने भेजा पानी तो यू.पी. सरकार ने कहा हमारे यहाँ लातूर जैसे हालत नहीं

0
17968

दिल्ली- जी हाँ भारत का बुंदेलखंड इलाका जो बनता है उत्तरप्रदेश के 7 और मध्य प्रदेश के 6 जिलों को मिलाकर | इस इलाके में पिछले कई महीनों से पानी कि किल्लत से लोग झूझ रहे है | यहाँ के किसान और आम जनता पानी की दिक्कत की वजह से यहाँ से पलायन कर रही है और कहीं और जाकर बस रहे है | केंद्र सरकार ने तमाम हालातों और रिपोर्टों को देखते हुए निर्णय लिया कि उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में पानी कि किल्लत को कम करने के लिए ट्रेन से पीने के लिए पानी पहुँचाया जाय | केंद्र सरकार ने आज एक ट्रेन पानी बुंदेलखंड के लिए रवाना किया लेकिन सूबे की समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने रेलवे को पत्र लिखकर पानी स्वीकार करने से साफ़ मना कर दिया है |

हमारे यहाँ लातूर जैसे हालात नहीं, जब जरूरत होंगी मांग लेंगे –
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तरफ से रेलवे को एक पत्र लिखा गया है जिसमें यह कहा गया है कि हमारे यहाँ लातूर जैसे हालात नहीं है | हम बुंदेलखंड के लोगों को पानी पहुंचाने में समर्थ है | यदि हमें भविष्य में पानी की आवश्यकता जान पडेगी तो हम केंद्र सरकार और रेलवे को सूचित करेंगे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here