राजमार्ग से दुकानें हटाने पर भी नहीं रुकी पियक्कड़ों की प्यास

प्रतीकात्मक

बलिया(ब्यूरो)- उच्च न्यायालय के आदेश के बाद नेशनल हाई-वे व राज्यमार्ग से अंग्रेजी, देशी व बीयर की दुकानों को हटाने के बाद भी बलिया के आबकारी विभाग के राजस्व पर कोई असर नहीं पड़ा। गांव में दुकानों के स्थापित होने के बाद से बिक्री में इजाफा हुआ है। इसको लेकर आबकारी विभाग पूरी तरह से उत्साहित है। केवल जून माह का देखे तो इस माह में 12 करोड़ 67 लाख रुपये के सापेक्ष 13.68 करोड़ का राजस्व आया जबकि इस माह में शराब की दुकानों को स्थापित करने को लेकर विभाग कसरत करता रहा है। इसको लेकर कई दिनों तक दुकानें बंद भी रहीं। इससे यह जाहिर होता है कि शराब की दुकानें सड़क पर रहें यहां इससे दूर हो इसका असर पियक्कड़ों पर नहीं पड़ने वाला है। वह इसके लिए कहीं भी जा सकते है। वैसे तो आबकारी विभाग को पूरे साल के लिए एक अरब 66 करोड़ 76 लाख का लक्ष्य है।

विभागीय सूत्रों की मानें तो जून माह तक विभाग 22.22 प्रतिशत अपने लक्ष्य को पा लिया है। उम्मीद समय से पूर्व ही इस लक्ष्य को पा लिया जाएगा। जिला आबकारी अधिकारी अनुपम राजन ने बताया कि दुकानों के हटने से राजस्व को नुकसान हुआ है, लेकिन विभाग ने लक्ष्य का पा लिया है। दुकानें मुख्य मार्ग पर होतीं तो और भी राजस्व आता। दुकानों के हटने के बाद भी लक्ष्य पा लिया गया है। यह विभाग का सामूहिक प्रयास है। अब विभाग का पूरा फोकस अवैध शराब के अड्डों को नष्ट करना है। इसके लिए आबकारी निरीक्षकों को लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here