नगरपंचायत में गंदगी और बदबू के बीच रहने को मजबूर लोग

0
77

किशनी/मैनपुरी (ब्यूरो)- जब भी कोई कार्यक्रम हुआ समाजवादी पार्टी के हर मंच से नगर पंचायत किशनी का नाम विकास के साथ जोड कर देखा गया। माननीयों द्वारा मुखर शब्दों में कहा गया कि विकास के नाम पर जितना पैसा इस नगर पंचायत को मिला शायद किसी दूसरी को नहीं। पर आज भी विकास के इस माहौल में गंदगी अपने पैर निरंतर पसारती जा रही है। इसी की बानगी आज तब देखने को मिली जब लोग गंदगी से अटे पडे नाले की सफाई के लिये प्रदर्शन करते देखे गये।

प्राइवेट बस स्टैंड किशनी, ग्वालियर बरेली हाईवे के किनारे नगर पंचायत द्वारा बनाये गये नाले नगर पंचायत की उपेक्षा के शिकार हो कर रह गये हैं। इन नालों की वर्षों से सफाई नहीं की गई है। आलम यह है कि इस नाले में पानी सड रहा है। पाॅलिथिन की थैलियों से अटे पडे इस नाले में मच्छरों की फौज भी तैयार होती है। जो शाम होते ही आने जाने बालों के साथ साथ वहां पर बैठ कर अपना रोजगार चलाने बालों के लिये मुशीबत का सबब बन जाती है।

गंदगी का आलम यह है कि नाले से उठती बदबू और सडांध लोगों को नाक पर कपडा रखने को बाध्य कर देती है। उस पर तुर्रा यह कि इसी नाले के पास गरीबों के भोजनालय भी है तथा मिष्ठान भंडार भी हैं। कई दुकानें नाइयों की हैं। जब लोग अपने बाल कटबाने को आते हैं। उन्हैं भी मच्छरों को मजबूरन रक्तदान कर मलेरिया मुफ्त स्कीम में लेनी पडती है।

अब लोगों की मजबूरी ही है। कि इस गंदगी के बीच उन्हैं भोजन ग्रहण करना पडता है। शनिवार को इस बदबूदार गंदगी के बीच व्यवसाय करने को मजबूर कुछ दुकानदारों ने जमकर प्रदर्शन किया। लोगों का कहना था कि एक ओर जहां देश का प्रधान मंत्री और प्रदेश के मुख्य मंत्री हाथों में झाडू थामे गंदगी से जंग लड रहे हैें वहीं नगर पंचायत अध्यक्ष सब कुछ जान कर भी ए.सी. का आनन्द ले रहे हैैं।

उनका कहना था कि किसी विशेष दिन हाथों में झाडू लेकर फोटो खिंचवाने से गंदगी दूर नहीं होगी। इसके लिये  समुचित प्रयास करने होंगे। अन्यथा चुनाव अब ज्यादा दूर नहीं हैं।प्रदर्शन करने बालों में मिजाजी लाल, लालू ,सुभाष सविता ,बन्टी सविता, प्रकाश सविता, छोटेलाल, हुब्बलाल, राजेश दिवाकर, ग्रीस कुमार, अश्वनी कुमार, संजीव शाक्य, रंजीत शाक्य, अतुल शाक्य आदि शामिल थे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here