अनियमित्तताओं का अड्डा बना प्राथमिक स्वास्थय केंद्र मान्धाता, डॉक्टर कर रहे मरीजों का शोषण

0
228


प्रतापगढ़(ब्यूरो)- जनपद प्रतापगढ़ में आखिरकार अधिकारी आना क्यों नहीं चाहते परंतु आ जाते हैं प्रतापगढ़ से जाना क्यों नहीं चाहते इसका भी कोई कारण होगा| रही बात जनपद प्रतापगढ़ की प्रतापगढ़ जनपद में कोई भी विभाग हो अधिकारी इस कदर अपनी पकड़ दलालों के माध्यम से बना चुके हैं कि वह अपना स्थान छोड़ना नहीं चाहते हैं इसका कारण साफ है कि कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी हैं कि मोदी और योगी सरकार का भी असर इनके ऊपर नहीं पड़ रहा है|

अभी हाल ही में मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रतापगढ़ जनपद के कई प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों का ट्रांसफर तो कर दिया गया परंतु डॉक्टरों के चहेते मुख्य चिकित्सा अधिकारी पर बराबर रोकने का दबाव बना रहे हैं| जिस डॉक्टर को रोकने का दबाव बना रहे हैं वह डॉक्टर विगत 4 वर्षों से लगातार एक ही स्थान पर डेरा जमाये हुये है इतना ही नहीं जल निगम के एक्सईएन राजेश खरे भी प्रतापगढ़ जनपद में अपनी ऊंची पहुंचकर चलते प्रतापगढ़ जिले को छोड़ना नहीं चाहते हैं रही बात प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मानधाता की तो गरीबों के जेब पर खुल्लम खुल्ला डाका डाला जा रहा है और कमीशन की दवाई खुल्लम खुल्ला बेची जा रही है| इसकी खबर भी कई बार लिखी जा चुकी है कई समाचार पत्रों ने प्रमुखता से छापा है उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री के संज्ञान लेने के बाद भी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मानधाता की कुर्सी पर जमे हैं और उनको मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रतापगढ़ का वरदहस्त प्राप्त है जो भ्रष्टाचार के इस बंदर बांट के खेल को उजागर करता है| पूरे प्रतापगढ़ जनपद में स्वास्थ्य विभाग में जमकर लूट खसोट भ्रष्टाचार व्याप्त है मोदी और योगी सरकार के सपनों को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ठेंगा दिखा रहे हैं|

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY