नगर पालिका डोंगरगढ़ में PIC बैठक में हुई नगर विकास को लेकर चर्चा

0
152

डोंगरगढ/छत्तीसगढ़(ब्यूरो)- नगर पालिका अध्यक्ष तरुण हथेल ने PIC की बैठक में आवश्यक विकास को लेकर चर्चा की| नगर पालिका अध्यक्ष की अनुमति से सभापति ने विशेष शुद्ध जल, उत्तम साफसफाई, विद्युत आम जनता की व्यवस्था को लेकर सीएमओ को कड़े दिशा निर्देश दिए, तरुण हथेल व PIC मेम्बरों ने सारे विषयो को सर्वसम्मति से पास किया विकास के नाम पर नगर पालिका अध्यक्ष तरुण हथेल ने कहा आम जनता नगर पालिका की सुविधा, निर्माण कार्य को लेकर वंचित न रहे इसको लेकर अतरिक्त 20 कर्मचारी अन्य व्यवस्था के लिये भी माँग सरकार के समक्ष पिछले 2 वर्षों से रखी जा चुकी है लेकिन आज तक कोई जवाब सरकार की ओर से नही मिला इसलिए हमें खासकर सफाई व्यवस्था में नगर में बड़ी दिक्कत हो रही है| हमे पर्यटन, धर्मिक नगरी में जन मानस का व भक्तो का अतिरिक्त दबाव रहता इसको ध्यान में लाकर शासन को समय समय मे मौखिक/लिखित लगातार पत्र व्यवहार किया जा रहा है उसके बाद भी सरकार का ध्यान नही देना समझ से परे क्यो है? अन्य धार्मिक छेत्रो में ऐसी व्यवस्था दी गई है| मुख्यमंन्त्री डॉ रमन सिंह का गृह जिला, उनके पुत्र सांसद अभिषेक सिंह, इनके जिले में एक मात्र सीट बीजेपी की विधायक प्रदेश का सबसे बड़ा धर्म स्थल , 25/2/1941 की नगर पालिका का दर्जा प्राप्त नगर आज हर तरह से अपने अस्तित्व को बचाने की लड़ाई लड़ रहा है|

यह बहुत बड़ा दुर्भाग्य है ख़ुद प्रदेश के मुखिया जी ने सांसद ने इस बात को सैकड़ो बार अपनी व परिवार की तरक्की सफलता में माँ बम्लेश्वरी का आशीर्वाद बताया हमारा प्रश्न है मुख्यमंन्त्री सांसद, विधायक से उसके अनुरूप आपने इस डोंगरगढ का विकास किया है| अपने ह्रदय पर हाथ रखकर देखो कि जिस तरह से विकास इस धर्म नगरी का होना चाहिये वैसा हुआ है क्या उच्चशिक्षा, उच्चस्वस्थ व्यवस्था, न उद्योग रमन सिहँ जी के सांसद बनने से लेकर मुख्यमंन्त्री तक सफर डोंगरगढ की जनता ने पूरे तन मन धन के सहयोग देकर इतने उच्च शिखर तक पहुंचाया आज भी शहर ने आपका साथ नही छोड़ा| इस शहर के लिए आपके पास घोषणा के अलावा और कुछ नही है क्या शहर का सौन्द्रीयकरण हुआ आखिर क्यों नही हुआ| आज हमारे नगर की जनता को क्यो लूटा ठगा जा रहा है राजनांदगांव, कवर्धा व अन्य क्षेत्रो के विकास से दुखी नही है| हम अन्य छेत्रो के जैसे हमारे डोंगरगढ का चहुमुखी विकास नही हुआ उस बात से दुखी है मेरा और शहर वासियो का मन जैसे चारो ओर विशाल पहाड़ से घिरा डोंगरगढ की जनता का विशाल ह्रदय है| आप से ज्यादा अच्छा कोई और नही जानता अगर नगर की जनता इस विषय को लेकर उतर जाए तो ऐसे विशाल आक्रोश होगा, जिसका आपने अंदाज भी नही लगाया नही होगा|

2014 के नगर पालिका चुनाव में आपने देख लिया है हो सकता है 2018 के विधानसभा चुनाव में आप अपनी बुरी असफलता का मुंह देखना पड़ सकता है क्योंकि हम धार्मिक, समाजिक, संस्कृति के लोग इस नगरी में रहते और सब्र की परीक्षा मत लीजिये| जनता को आप सड़क के विकास को विकास कहते है, जरा शहर के अंदर देखो नाली बजबजा रही है धूल पूरे शहर में नजर आती है योजना बनाके भेजो तो ठंडे बस्ते में डाल देती है| सरकार कर्मचारी नही रहंगे तो हम कैसे मूलभूत व्यवस्था देंगे| आम जनता को इसका जवाब कौन देगा , तरुण हथेल ने कहा पूरे ढाई वर्ष हो गया नगर पालिका के चुनाव को ऐसा लगने लगा रहा है, जैसे ओछी राजनीति की जा रही है जनता का फैसला स्वीकार करने की इच्छाशक्ति नही सरकार से मेरा आरोप है डॉ रमन सिहँ सांसद के ऊपर आप शहर के लिए भेदभाव की राजनीति कर रहे हैं इसलिए आप अब तक इस शहर को जनहित के बुनियादी विकास से दूर रखा जा रहा है|

तरुण ने कहा कोई निर्माण विकास भ्र्ष्टाचार की शिकायत करो तो वह विकास रुक जाता है वर्षो जाँच नही होती जाँच के नाम पर तो कैसे भ्र्ष्टाचार से लड़ने की बात हो रही है| छोटे अधिकारी की शिकायत करो बड़ा उसी विभाग का अधिकारी जांच करता है और क्लीन चिट दे देता है हमने पूरी जिम्मेदारी से सरकार के साथ चलने का काम इस ढाई वर्ष के कार्य काल मे किया लेकिन सरकार लगातार डोंगरगढ नगर पालिका के साथ भेदभाव किया न सरकार के खिलाफ न कोई विरोध किया, आंदोलन लेकिन अब ऐसा लगता है विकास के लिये जनता के माध्यम से आवाज विरोध व आंदोलन करके जो वादाखिलाफी और कुम्बकर्णीय नींद से सरकार को जगाना पड़ेगा यह सारी बात अपने पार्षदो के माध्यम से जनता तक पहुंचाने का विनम्र निवेदन किया| तरुण ने बैठक में कहा हमारी माँग जायज है, इस पर सरकार जल्दी स्वीकार नही करेगी तो नुक्कड सभा लेकर जनता को जगाया जायेगा| इस जनहित के कार्य मे डोंगरगढ की जनता व सभी पत्रकार साथियों व राजनीति दलों से एक जुट होकर लड़ने की अपील की । दलगत राजनीति से ऊपर उठना होगा मेरी सरकार से गुजारिश है की डोंगरगढ़ के विकास के लिए अपना ध्यान देवे ।

रिपोर्ट- महेंद्र शर्मा (बंटी)/हरदीप छाबड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here