मासूम बच्चो के भविष्य से किया जा रहा खिलवाड़

0
85

कबरई/महोबा(ब्यूरो)- शिक्षा को बनाया जा रहा मजाक बच्चो के भविष्य से किया जा रहा खुलेआम खिलवाड़, शिक्षको ने शिक्षा देने के बजाय उन्हें बना दिया कर्मचारी, जहाँ भी देखा जाऐ हर जगह की यही स्थिति है, शिक्षा को अपना भविष्य समझकर बच्चे विद्यालय जाते है, परन्तु वहाँ मौजूद शिक्षक व शिक्षिका बच्चो को शिक्षा कम और काम शिक्षा ज्यादा देने मे माहिर है|

यही आलम देखने को मिला कबरई के ग्राम बघवा प्राथमिक विद्यालय मे जहाँ पर बच्चो को शिक्षा व ज्ञान देने के बजाय उनसे ऐसी कडी धूप मे काम करवाया जा रहा है, उन मासूमो से कन्डे ढूबाऐ जाते है, पता नहीं और कैसे और कितना काम करवाया जा रहा होगा, उन मासूमो से यहाँ भर नहीं और पता नहीं कितने ऐसे विद्यालय है जहाँ पर ऐसा अत्याचार वाला कार्य करवाया जा रहा होगा।

कहने का तात्पर्य यह है कि सरकार चाहे जिसकी भी आऐ पर ऐसी स्थिति मे सुधार और शिक्षक व शिक्षिका की सोच मे सुधार नहीं आने वाला।

सरकार से बच्चो की पढाई के नाम से बैठने का रुपऐ लेने वाले ऐसे शिक्षक व शिक्षिका कभी भी इन मासूमो का दर्द व उनकी भावनाऐ नहीं समझ सकते या फिर कह सकते है कि समझने की कोशिश नहीं करते। ऐसी कडी व चिलचिलाती धूप मे बेचारे मासूमो से विद्यालय का काम करवाया जाता है|

ऐसा लगता या तो बच्चो के माता पिता सो रहे है या फिर शिक्षा विभाग शासन जो की कभी ऐसी स्थिति व जगह पर नजर ही नहीं डालनी चाही।

पता नहीं ऐसे शिक्षक व शिक्षिका की वजह से बच्चो के भविष्य और देश के भविष्य का क्या होगा ये तो सिर्फ ऊपरवाला ही जानता है।

रिपोर्ट-प्रदीप मिश्रा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY