प्लेटफार्म नीचा होने से यात्रियों को ट्रेन में चढ़ने में हो रही है परेशानी

0
28

वाराणसी(ब्यूरो)- छपरा रेल मार्ग पर पर स्थित गाजीपुर जनपद के करीमुद्दीन पुर रेलवे स्टेशन पर छोटी लाईन से बडी लाईन में परिवर्तन हुवे एक दशक से ऊपर हो गया है लेकिन अब तक न तो प्लेटफार्म की उंचाई बढाई गयी न ही प्लेटफार्म की लम्बाई बढाई गयी है। इस रेलवे स्टेशन से करईल के जोगा देवरियां मसौनी गोंडउर खरडीहा मिश्रवलिया लौवाडीह अवथही सियाडी समेत बांगर के लट्ठूडीह, दुबिहां, नवादा, हरदासपुर, कमसडी, उतरांव, पातेपुर, पैकवली, पहराजपुर, उंचाडिह, कामूपुर, बद्दोपुर, पडरांव, शेरमठ, चकफातमां समेत पचासों गांव के यात्री अपने अपने गंतव्य के लिए आने जाने के प्रमुख साधन के रूप में करीमुद्दीन पुर रेलवे स्टेशन से नियमित ट्रेन पकडते है।

इस रेलवे स्टेशन पर छोटी लाईन से बडी लाईन में परिवर्तन हुवे एक दशक हो गये परन्तु आज तक इस स्टेशन पर प्लेटफार्म की उंचाई एवम लम्बाई ज्यों की त्यो रहने से बराबर दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। रोजाना करीमुद्दीनपुर में अप एवं डाउन सारनाथ एक्सप्रेस के ठहराव के समय इस ट्रेन की अधिकांश बोगिया प्लेटफार्म छोटा होने से प्लेटफार्म के आगे या पीछे हीे रह जाती है। डब्बो की उंचाई ज्यादा होने के कारण बुजूर्ग बिमार एवम खास तौर से महिला यात्रियों को ट्रेन में चढते समय या उतरते समय काफी परेशानीयों का सामना करना पड रहा है। प्राय: लोग ट्रेन में चढते समय या उतरते समय गिर कर घायल हो जाते है।

नियमित रूप से सारनाथ एक्सप्रेस का जनरल डब्बा प्लेटफार्म से काफी दूरी पर लगता है जिसके कारण जनरल बोगी में चढना या उतरना काफी जोखिम भरा होता है। इस रेलवे स्टेशन पर प्रकाश पेयजल एवम शौचालय जैसी बहुत सी बुनियादी समस्याएं है। इस स्टेशन के प्लेटफार्म पर लगे हैण्डपम्प ज्यादातर खराब ही रहते है। छबिनाथ पाण्डेय, सुनील कुमार राय, दिनेश राय गुड्डू, अनिल राय, डॉ. असलम, रणजीत कुशवाहा, सुभाष सिंह, टुनटुन राय, प्रताप मिश्रा, शिब्बू मिश्रा, राजेश कुशवाहा समेत क्षेत्र के ढेर सारे लोगों नेे रेलवे के उच्चाधिकारियों का ध्यान करीमुद्दीन पुर रेलवे स्टेशन की तरफ आकृष्ट कराने का प्रयास किया है।

रिपोर्ट- सुनील गुप्ता

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY