PM के संसदीय क्षेत्र का यह है विकास, भोर में धँस गया कावरिया मार्ग

0
48

वाराणसी (ब्यूरो)- पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में योगी राज के अफसर किस तरह बेलगाम और कामों के प्रति लापरवाह है इसकी पोल तब खुल गई, जब काशी की हृदयस्थली गोदौलिया दूधसट्टी के निकट मंगलवार की भोर में सड़क लगभग 25 से 30 मीटर तक धंस गयी। संयोग अच्छा रहा कि यहां बने बैरिकेडिंग में उस वक्त कावंड़िया या राहगीर नही रहे नही तो बड़ी दुर्घटना से इन्कार नही किया जा सकता था।

घटना के बाद जब मंगलवार को श्री काशी विश्वनाथ के दर्शन के लिए मेयर रामगोपाल मोहले गुजर रहे थे, उस वक़्त भीड़ देखकर रुक गए। उन्होंने तत्काल सम्बंधित विभाग सहित जिलाधिकारी को दूरभाष पर घटना से अवगत कराया लेकिन विभागों की लापरवाही देखकर नगर प्रमुख ने अफसरों को जमकर खरी-खोटी सुनाई।

जहाँ सड़क धंसने की घटना हुई है महज एक पखवारे पहले भूमिगत तार और सीवर बिछाने के लिए खुदाई हुयी थी। कार्यदायी संस्था ने रस्म अदायगी के लिए काम खत्म होने पर इसे सतही तौर पर पाट दिया था। सावन माह शुरू होने के एक दिन पहले सूबे के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और राजयमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने इस मार्ग को ठीक कराने का निर्देश दिया था। तब इस पर नाम मात्र की गिट्टी और मिट्टी आदि डाल दिया गया। बीते सोमवार की दिनभर की बारिश ने इस कार्य की पोल खोल दी। क्षेत्र के कपड़ा व्यापारी पवन जायसवाल, राकेश गुप्ता, नरेश खेमका दूध विक्रेता फूलचन्द यादव ने कहा कि सड़क धसने की आशंका पहले से ही रही।

यहां कार्यदायी संस्था ने जिस तरह काम कराया है, उसका नतीजा सामने है। उन्होंने कहा कि संयोग अच्छा रहा कि शहर की सबसे व्यस्ततम मार्ग पर उस समय कोई मौजूद नही था। रामगोपाल मोहले ने कहा कि भले ही खोदाई जल संस्थान की हो मगर सड़क पीडब्ल्यूडी की है और सड़क धंसने की जानकारी होने के बाबजूद कई घंटे बीत गए, मगर कोई अधिकारी या इंजिनियर यहाँ तक नही आया। नगर प्रमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री से बात कर भ्रष्ट विभाग पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों और इनके कामों के बाबत उन्हें अवगत करूँगा। उन्होंने जिला प्रशासन से कहा कि इनके कामों की समीक्षा नहीं बल्कि कार्यवाही करें ताकि काम धरातल पर दिखे।

रिपोर्ट- सर्वेश कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here