100 फीसदी सैलरी बढ़ोत्तरी पर पीएम् मोदी को है एतराज

0
397

दिल्ली- देश के सांसद चाहते है कि उनकी सैलरी में और उन्हें मिलने वाले भत्तों में 100% का इजाफा किया जाना चाहिए | मजे की बात तो यह भी है कि पार्लियामेंट्री कमेटी जिसके अध्यक्ष योगी आदित्यनाथ है ने अपनी रेकमेंड भी किया है कि सांसदों की सैलरी और उन्हें मिलने वाले भत्तों में बढ़ोत्तरी होनी चाहिए | योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता वाली कमेटी की सलाह के बाद देश के वित्त्मंत्रल्या ने इसे अपनी स्वीकृति भी प्रदान कर दी थी | जिसके बाद यह मामला प्रधानमंत्री मोदी के सामने गया हुआ था |

प्रधानमंत्री मोदी को सांसदों की सैलरी बढ़ोत्तरी पर है एतराज –
जब यह मामला प्रधानमंत्री के सामने गया है तो प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर एतराज जताया है | प्रधानमंत्री ने कहा है कि मुझे ऐसा लगता है कि सांसदों को खुद ही अपनी सैलरी बढाने का निर्णय नहीं लेना चाहिए | उन्होंने कहा है कि यह निर्णय सांसदों को या तो पे-कमीशन या फिर उस जैसी किसी और बॉडी को सौंप देना चाहिए जो इस पर पुनः विचार करें और इतना ही नहीं समय-समय पर इसमें जो भी परिवर्तन करने है वो कर सकें | पी एम् मोदी एक और सलाह देते हुए कहा है कि मुझे यह भी लगता है कि सांसदों की सैलरी को राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और केबिनट सेक्रटरी जैसे पद के वेतन में होने वाली बढ़ोत्तरी से लिंक कर देना चाहिए |

सांसदों का है मानना कि उनकी सैलरी में बढ़ोत्तरी होनी चाहिए –
बता दें कि देश की संसद के ज्यादातर सांसदों का मानना है कि उनकी सैलरी में बढ़ोत्तरी होनी ही चाहिए | अब इसके लिए पार्लियामेंट्री कमेटी की तरफ से रेकमेंडेशन मिलने के बाद यह तय भी हो चूका था कि इस बार ऐसा होकर ही रहेगा लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर फिलहाल के लिए रोक लगा दी है | बता दें कि फिलहाल सांसदों की सैलरी प्रतिमाह 50रूपये है जिसे बढाकर 1 लाख रूपये प्रतिमाह करने की योजना बनायीं जा रही थी और वहीँ सांसदों को मिलने वाला कॉन्स्टिट्यून्सी अलांउस भी 45 हजार से 90 हजार करने के लिए सिफारिश की गयी थी |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here