रात 10 बजे जब पीएम ने सड़क मरम्मत के कार्य में देरी की वजह जानने के लिए डीएम को कर दिया फोन…

0
3860

narendr modi
अक्सर हमें यही सुनने को मिलता है कि देश के नेता अपनी पॉवर और रसूख का गलत इस्तेमाल करते हैं और ज्यादातर मामलों में ये बात सच भी साबित होती है पर देश में कुछ ऐसे नेता भी जो वाकई देश का भला चाहते हैं और उसके लिए सबकुछ कुर्बान करने को तैयार हैं फिर चाहे वो रात के उनके आराम के वक़्त को भी देश सेवा में लगाना ही क्यों ना हो और ऐसा भी नहीं है कि ऐसे नेता सिर्फ किसी पार्टी विशेष में ही हैं |

2014 में लोकसभा चुनाव जीतने से पहले और जीतने के बाद खुद को देश का प्रधान सेवक बताकर देश के प्रधानमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने वाले narendra मोदी हर बार नेताओं के ऊपर से उठ रहे लोगों के विश्वास को एक नयी उम्मीद देते हैं और अपने कहे के अनुसार पहले दिन से ही पीएम मोदी एक प्रधान सेवक की तरह दिन – रात की परवाह किये बगैर देश सेवा में लग गए हैं, फिर वो चाहे उसके लिए 6 दिन के दौरे को 4 दिन में पूरा करने के लिए हवाई जहाज में ही सोना हो या रात को जब सारा देश सोने की तैयारी कर रहा होता है उस वक़्त किसी तूती सड़क की चिंता को लेकर किसी जिले के जिलाधिकारी को फोन करना हो |

हाल ही में आपने मीडिया में ये खबर सुनी होगी कि देश के ही एक राज्य त्रिपुरा में पेट्रोल रु. 300/ली. और डीजल रु. 150/ली. बिक रहा था और इसके पीछे का कारण था बरसात के कारण त्रिपुरा और असम को जोड़ने वाली 10 किमी की एक सड़क का बह जाना, जिस वक़्त सारा देश अपने tv पर इस खबर को देखकर सरकार को कोस रहे थे और सोने की तैयारी कर रहे थे, देश के प्रधानमंत्री अपने साथियों के साथ बैठकर समस्या का समाधान ढूंढ रहे थे |

रात को 10 बजे जैसे ही नार्थ त्रिपुरा के डीएम संद्देप महात्मे को जिस समय पीएम मोदी ने फोन किया उन्हें बिलकुल अंदाज़ा नहीं था कि आखिर इनती रात देश के प्रधानमंत्री उनसे क्या बात करना चाहते हैं |

पीएम मोदी ने बड़े ही सहज तरीके से कहा माफ़ कीजिएगा इतनी देर रात आपको परेशान किया, सिर्फ इतना जानना चाहते थे कि एनएच 44 जो असम और त्रिपुरा को जोड़ता है, उसके 10 किलोमीटर का काम अधूरा क्यों पड़ा हुआ है?

संदीप महात्मे- सर, काम चल रहा है लेकिन लोग और इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी है….लेकिन जल्द काम पूरा कर लेंगे |

मोदी- आप हाइवे का काम जल्द से जल्द पूरा करवाइए. केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से जो भी मदद चाहिए वो मिलेगी |

अगली सुबह करीब 10 जेसीबी मशीनें हाइवे पर पहुंच चुकी थीं, इसके बाद युद्धस्तर पर हाइवे को ठीक करने का काम शुरू हो गया. 300 से ज्यादा ट्रक भर के सामान आने लगा, चौबीसों घंटे काम चला और 6 दिनों के अंदर काम पूरा हो गया, डीएम संदीप महात्मे ने अपने फेसबुक पेज पर तस्वीरों के साथ इसकी जानकारी भी डाली |

महीने भर से ज्यादा समय तक बंद पड़े हाइवे के खुलने के बाद सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने खुद फोन करके डीएम संदीप महात्मे को बधाई दी और बाकी काम को भी जल्द से जल्द पूरा करने के लिए कहा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here