बलूचिस्तान के मुद्दे पर बाग्लादेश के बाद अफगानिस्तान ने भी किया मोदी का समर्थन, अकेला पड़ गया पाकिस्तान

0
33596

hamid karjai

दिल्ली- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 15 अगस्त को लाल किले से बलूचिस्तान के मुद्दे पर दिए भाषण का अब बाग्लादेश के बाद अफगानिस्तान ने भी खुलकर समर्थन दे दिया है | अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा बलूचिस्तान में मानवाधिकारों के हनन का मुद्दा उठाये जाने का स्वागत करते हुए कहा है कि वहां के लोगों को बहुत बड़ी संख्या में पाकिस्तान द्वारा उत्पीडन का सामना करना पड रहा है | उन्होंने यह भी कहा है कि भारत हमेशा से ही शांति में विश्वास रखता है और प्रारंभ से ही भारत अपने पडोसी देशों के साथ शांतिपूर्ण सहअस्तित्त्व की बात करता रहा है इसलिए मुझे यह नहीं लगता है कि भारत बलूचिस्तान में किसी भी प्रकार का छद्म युद्ध प्लान करेगा |

यह पहला मौका है जब किसी ने खुलकर पाकिस्तान का विरोध किया है –
अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने इंस्टिट्यूट ऑफ़ पीस एंड कनफ्लिक्ट स्टडीज द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा है कि पाकिस्तान की तमाम एजेंसियां और उनके अधिकारी शुरुआत से ही भारत और अफगानिस्तान के बारे में खुलकर बोलते रहे है लेकिन यह पहला मौका है जब भारत के किसी प्रधानमंत्री ने खुलकर बलूचिस्तान के मुद्दे पर बातचीत की है |

गौरतलब है कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को राष्ट्र के नाम अपने शंदेश में बलूचिस्तान में पाकिस्तान द्वारा किये जा रहे अत्याचारों पर खुलकर बोले थे | अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा है कि बलूचिस्तान में पख्तूनो को पाकिस्तान के द्वारा भारी उत्पीडन का शिकार बनाया जा रहा है | इसे पाकिस्तान को गंभीरता से लेते हुए तत्काल बंद कर देना चाहिए | पूर्व अफगान राष्ट्रपति ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह भी कहा है कि बलूचिस्तान में अफगानिस्तान की बड़ी हिस्सेदारी है क्योंकि इसी रस्ते चरमपंथ अफगानिस्तान की धरती पर पहुंचता है |

बांग्लादेश ने भी किया पीएम मोदी का समर्थन –
बता दें कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के भाषण का बांग्लादेश ने पहले ही खुलकर समर्थन किया है | बांग्लादेश सूचना मंत्री हसन-उल-हक़ इन दिनों भारत के दौरे पर है और उन्होंने बलूचिस्तान में पाकिस्तान द्वारा की जा रही हिंसा और पख्तूनों के साथ किये जा रहे पाकिस्तानी अत्याचार पर चिंता जाहिर की है | उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद को संरक्षण देता है इसके हमारे पास पर्याप्त सबूत है | गौरतलब है कि बांग्लादेश और भारत दोनों ही इस बात पर सहमत है कि आतंकवाद का सफाया करने के लिए सूचनाओं का आदान प्रदान होना अतिआवश्यक है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here