PM नरेन्द्र मोदी का दौरा खत्म , मोदी ने कहा ईरान से दोस्ती इतिहास जितनी पुरानी

0
2173

दिल्ली- दो दिवसीय दौरे के बाद मोदी भारत लौट आये हैं ,15 साल बाद यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की ईरान यात्रा थी | पीएम मोदी से पहले प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई ईरान गए हुए थे | मोदी रविवार को तेहरान पहुंचे थे, पीएम मोदी के साथ केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी ईरान की यात्रा पर गए हुए थे | मोदी के तेहरान पहुँचने पर उनकी अगवानी ईरान के वित्त मंत्री अली तयेब्नियम और उपविदेश मन्त्री इब्राहिम रहीमपोर ने की |

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी थी जानकारी-
पीएम मोदी जब ईरान पहुंचे थे उसके बाद उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि, मैं ईरान पहुँच गया हूँ, ईरान और भारत के बीच पुरानी सभ्यतायों से संबंध रहें हैं और उम्मीद है कि दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधो को गति मिलेगी |

सोमवार को ईरानी राष्ट्रपति से मिले पीएम मोदी –
सोमवार को ईरानी प्रेसीडेंट हसन रूहानी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच बातचीत हुई, बातचीत में दोनों देशों के बीच ट्रेड और इकोनामिक सेक्टर में कोऑपरेशन के लिए कई समझौते हुए | जिसमे सबसे ख़ास चाबहार पोर्ट कि डील थी | इसके लिए भारत ईरान को 3376 करोंड़ रुपये उपलब्ध करायेगा |

प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी 23 मई, 2016 को तेहरान के सादाबाद महल में आयोजित स्‍वागत समारोह में ईरान के राष्‍ट्रपति, श्री हसन रूहानी के साथ।
प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी 23 मई, 2016 को तेहरान के सादाबाद महल में आयोजित स्‍वागत समारोह में ईरान के राष्‍ट्रपति, श्री हसन रूहानी के साथ। photo credit-PIB

अब सीधे अफगानिस्तान से ट्रेड करेगा भारत –
चारबाह पोर्ट के विकसित हो जाने के बाद भारत ईरान के रास्ते से सीधे अफगानिस्तान में ट्रेड कर सकता है | अभी तक भारत को अफगानिस्तान के साथ व्यापार करने के लिए पाकिस्तान के रास्ते से होकर जाना पड़ता था जहां से उसे खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था | पीएम मोदी के ईरान दौरे के साथ ही अफगानिस्तान के प्रेसीडेंट असरफ घनी वहां मौजूद थे | यह डील न केवल भारत और ईरान के बीच है बल्कि यह डील भारत ईरान और अफगानिस्तान के बीच एक त्रिगुट समझौता भी है |

क्या कहा है मोदी ने ?
भारत ईरान कि दोस्ती उतनी ही पुरानी है, जितना पुराना इतिहास |
भारत को फक्र है कि वो मुश्किल हालात में भी ईरान के साथ खड़ा रहा |
भारत ईरान अफगानिस्तान के बीच एक नया रिश्ता शुरू हो रहा है,ह्म मिल कर काम करने के लिए तैयार हैं |
बातचीत के दौरान मोदी ने ये भी कहा हिया कि ‘मैं इस बात को कैसे भूल सकता कि मेरे होम स्टेट गुजरात में जब भूकंप आया तो मदद के लिए आने वाला पहला देश ईरान ही था | मोदी ने ईरान के लीडर अयातुल्लाह अली खमैनी को 7th सेंचुरी कि रेयर कुरान गिफ्ट की, साथ ही प्रेजिडेंट को मिर्जा ग़ालिब की पोएट्री का एक कलेक्शन भी दिया | मोदी ने रोहानी को पर्सियन भाषा में कन्वर्ट रामायण की कॉपी भी गिफ्ट के तौर पर दी |
पीएम मोदी ने चाबहार में एक प्रोग्राम में अपनी स्पीच कि शुरुआत फारसी कवि हफीज को याद करते हुए की |
पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान यह भी कहा कि, जुदाई के अब दिन खत्म हुए, इंतजार कि रात खत्म हो रही है, हमारी दोस्ती हमेशा बरक़रार रहेगी |

प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी 23 मई, 2016 को तेहरान के सादाबाद महल में आयोजित स्‍वागत समारोह के दौरान 'गार्ड ऑफ ऑनर' का निरीक्षण करते हुुए। ईरान के राष्‍ट्रपति, श्री हसन रूहानी भी साथ हैं।
प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी 23 मई, 2016 को तेहरान के सादाबाद महल में आयोजित स्‍वागत समारोह के दौरान ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ का निरीक्षण करते हुुए। ईरान के राष्‍ट्रपति, श्री हसन रूहानी भी साथ हैं। photo credit-PIB

इन अहम् समझौतों पर हुए हस्ताक्षर –
1.ईरान में रेलवे लाइन बिछाएगा भारत – इरकान ईरान के चाबहार पोर्ट से जहेदान तक रेल लाइन बिछाएगा| इससे ईरान, अफगानिस्तान और मध्य एशिया तक भारत की पहुँच आसानी से हो सकेगी |

2. 15 करोंड़ डालर की क्रेडिट लाइन – एक्सिम बैंक ऑफ़ इंडिया ईरान को 15 करोंड़ डालर की क्रेडिट लाइन देगा |

3.अल्युमिनियम स्मेल्टर लगाएगा भारत

4 .एक एमओयू ईरान के एक्सपोर्ट गारंटी फण्ड और भारत के एक्स्प्पोर्ट गारंटी कारपोरेशन के बीच हुआ |

डील से होने वाले फायदे –
ईरान चाबहार पोर्ट को डेवलप करना चाहता है और भारत इसमें मदद को तैयार हो गया है |
यह डील इस लिए अहम है क्योंकि चीन,पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट का इश्तेमाल कर रहा है | चाबहार पोर्ट कि डील करके भारत ने पाकिस्तान और चीन दोनों को ही एक साथ करारा जवाब दे दिया है |
इस डील में अफगानिस्तान का भी अहम रोल होगा ,भारत के जहाज अब सीधे अफगानिस्तान पहुँच सकेंगे |
इस पोर्ट के बनते ही भारत रीजनल तौर पर मजबूत हो जायेगा वजह यह है कि अब अफगान ईरान तक भारत आसानी से पहुँच सकेगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY