7 साल की गरीब बच्ची ने अपने दिल के ऑपरेशन के लिए पीएम मोदी को लिखा पत्र, पीएम ने करवाया मुफ्त इलाज |

0
4539

पुणे – पुणे के हडपसर की रहने वाली एक 7 वर्षीय गरीब बच्ची ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को ख़त लिखा था | पीएम को ख़त लिखने के मात्र 5 दिन के भीतर ही पीएम मोदी के कार्यालय कि तारफ से पुणे के जिला कलेक्टर को निर्देश दिए गए कि उस गरीब बीमार बच्ची का पता लगया जाय और उसका पूरा का पूरा इलाज करवाया जाय |

बच्ची के दिल में था छेद, पीएम ने करवाई मुफ्त सर्जरी-
बता दें कि जिस 7 वर्षीय बच्ची ने पीएम मोदी को पत्र लिखा था उसके दिल में छेद था और उसके पिता एक पेंटर है | लोगों की दिवाले पेन्ट करने से उन्हें जो कुछ भी पैसा मिलता था वह उनकी लाडली बेटी के इलाज के लिए काफी नहीं था | फिर भी पिता ने अपनी बेटी की जान बचाने के लिए अपनी साइकिल तक बेंच दी लेकिन फिर भी उनके पास इतना धन नहीं था कि वे बेटी के दिल की सर्जरी करवा सकें |

7 वर्षीय वैशाली ने एक दिन पीएम मोदी को टीवी पर देखा और उन्हें पत्र लिखने की ठान ली | वैशाली ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में बताया कि उसके दिल में छेद है और वह ज्यादा दिन और जीवित नहीं रह सकती है, लेकिन वह जिंदा रहना चाहती है | वैशाली ने पीएम मोदी से निवेदन किया कि उसका इलाज करवाया जाना चाहिए |

पीएम ने दिए सर्जरी के निर्देश –
जब वैशाली ने अपने पत्र को पोस्ट करवाया था तब किसी को इस बात का भरोसा नहीं था कि पीएम मोदी की तरफ से ऐसा कोई जवाब भी आएगा | लेकिन जिस दिन वैशाली ने अपना पत्र पोस्ट किया था उसके ठीक 5 दिन के भीतर ही पीएमओ की तरफ से जवाब आ गया | पीएम मोदी के कार्यालय की तरफ से पुणे के जिला कलेक्टर को आदेश दिया गया कि तत्काल उस लड़की का पता लगाया जाय जिसने पीएम मोदी को यह पत्र लिखा है और उसके इलाज़ की पूरी ब्यवस्था की जानी चाहिए | इलाज का पूरा भुगतान प्रधानमंत्री कार्यालय के द्वारा किया जायगा |

किसी भी अन्य राजनैतिक पार्टी ने नहीं की मदद-
मीडिया में आई खबरों से खुलासा हुआ है कि वैशाली के पिता और चाचा ने वैशाली का इलाज करवाने के लिए प्रदेश की लगभग सभी पार्टियों और एनजीओ से मदद मांगी थी लेकिन उन्हें हर तरफ से केवल और केवल निराशा ही हाथ लगी | वैशाली के चाचा कहते है कि एक दिन वैशाली ने ही पीएम मोदी के बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम को देखा उसके बाद उसने पीएम को पत्र लिखने की ठान ली |

वैशाली के चाचा ने कहा है कि सच कहूं तो जब वैशाली ने मुझे पत्र पोस्ट करने के लिए कहा था तब मुझे भी इस बात का भरोसा नहीं था कि पीएम मोदी की तरफ से कभी कोई उत्तर आएगा | लेकिन हम गलत थे मात्र 5 दिनों के भीतर ही हमें खोजते हुए जिला प्रशासन के लोग आये और 2 जून को हमारी बेटी का ऑपरेशन भी हो गया | हम बेहद खुश है और पीएम को ह्रदय से धन्यवाद् देते है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY