अफ्रीका की यात्रा से लौटे पीएम मोदी, कश्मीर की ताजा गतिविधियों की करेंगे समीक्षा, पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देगी सरकार

0
184

Modi

दिल्ली- हाल ही में जम्मू-कश्मीर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के सेना द्वारा किये गए इनकाउंटर में मारे जाने के बाद पूरे कश्मीर में पकिस्तान प्रायोजित आतंकी गतिविधियाँ चरम पर पहुँच गयी है | पाकिस्तानी एजेंट अलगाववादी नेताओं और कश्मीरी नौजवानों के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ के जवानों और सेना के जवानों के ऊपर पथराव कर रहे है | पिछले 3 दिनों से चल रहे इन विरोध प्रदर्शनों में अब तक 23 लोगों के मारे जाने की खबर है | लेकिन गृहमंत्री ने आज 2 बार हाईलेवल मीटिंग करने के बाद बीते 3 दिनों से बंद पड़ी अमरनाथ यात्रा को पुनः प्रारंभ करने के आदेश दे दिये है और साथ ही सेना और सुरक्षाबलों को भी यह आदेश दिया है कि बाबाबर्फानी के दर्शन के लिए गए हर एक श्रद्धालु को सुरक्षित उसके गंतब्य स्थान तक पहुंचाया जाना चाहिए |

आज अफ्रीका से लौटने के बाद प्रधानमंत्री श्री मोदी सीधे कश्मीर की स्थित का जायजा लेंगे –
प्रधानमंत्री मोदी 4 देशों की अपनी अफ्रीका की यात्रा से आज ही भारत लौट रहे है | दिल्ली पहुँचने के कुछ देर बाद ही प्रधानमंत्री सीधे कश्मीर में उत्पन्न हुए हालातों का जायजा लेंगे और साथ पाकिस्तान के आतंकी प्रेम का करारा जवाब देने के बारे में भी विचार विमर्श किया जाएगा | सूत्रों के हवाले से प्राप्त खबर के अनुसार प्रधानमंत्री श्री मोदी को इस हाई लेवल मीटिंग में कश्मीर में अब तक की कार्यवाही और स्थिति को बहाल करने के लिए उठाये गए क़दमों के बारे में जानकारी भी दी जायेगी |

गृहमंत्री ने सोमवार को 2 बार की हाईलेवल मीटिंग –
बता दें कि गृहमंत्री स्वयं कश्मीर में बिगड़े हालातों के ऊपर सीधे नजर बनाये हुए है और उन्होंने इस पर सख्त रुख अपनाते हुए सोमवार को दिन में 2 बार हाईलेवल मीटिंग भी बुलाई थी | गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई इस मीटिंग में वित्तमंत्री अरुण जेटली, रक्षामंत्री श्री मनोहर परिर्कर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत ढोबाल, थल सेना प्रमुख, रॉ चीफ और आईबी चीफ भी सम्मिलित हुए |

सुरक्षाबलों को विवेकपूर्ण बल प्रयोग करने की दी गयी सलाह-
बताया जा रहा है कि गृहमंत्री की इस हाईलेवल मीटिंग के बाद यह तय किया गया है कि पूरे जम्मू-कश्मीर राज्य में बिना पुलिस को जानकारी दिए किसी भी प्रकार का कोई एक्शन नहीं लिया जाएगा | इस मामले को सबसे पहले इस मामले से जम्मू-कश्मीर पुलिस को निपटना है और अगर जरुरत पड़ती है तो सीआरपीएफ के जवानों को तत्काल मौके पर भेजा जाएगा | पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों को गृहमंत्री ने सुझाव देते हुए आग्रह किया है कि स्थिति को देखते हुए विवेकपूर्ण ढंग से किसी भी कार्यवाही को अंजाम दें |

रक्षामंत्री ने सेना किसी भी हालात से निपटने के लिए है बिलकुल तैयार –
उधर गृहमंत्री के साथ मीटिंग के बाद बाहर आये रक्षामंत्री श्री मनोहर परिर्कर ने सवंदाताओं से बातचीत करते हुए कहा है कि कश्मीर की स्थित से गृहमंत्रालय को निपटना है | उन्होंने यह भी कहा है कि अगर सेना की जरुरत पड़ती है तो सेना पूरे राज्य में किसी भी स्थित में किसी भी प्रकार की मदद करने के लिए पूर्णतः तैयार खड़ी है गृहमंत्री जैसा भी आदेश करेंगे तुरंत उसपर कार्यवाही की जायेगी |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here