प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कल स्मार्ट शहर मिशन, अटल मिशन, शहरी आवास मिशन की शुरूआत करेंगे

0
334
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की फ़ाइल फोटो
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की फ़ाइल फोटो

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी देश की शहरी तस्‍वीर को बदलने के लिए कल तीन प्रमुख मिशनों की शुरूआत करेंगे जिससे आर्थिक विकास के अलावा शहरी जीवन स्‍तर की गुणवत्‍ता में सुधार होगा। प्रधानमंत्री स्‍मार्ट शहर मिशन, शहरों के कायाकल्‍प के लिए अटल मिशन और उनके सुधार के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत करेंगे। साथ ही इन तीन मिशनों के लिए संचालन दिशा निर्देश जारी करेंगे।

एएमआरयूटी के अंतर्गत शहर के प्रत्‍येक परिवार को नल का पानी और सीवर कनेक्‍शन जैसी बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के साथ-साथ ठोस कचरा प्रबंधन, सड़कों और सार्वजनिक परिवहन पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा। शहरी शासन को बेहतर बनाने के लिए शहरी सुधारों को बढ़ावा दिया जाएगा। इस मिशन से शहरी स्‍थानीय निकाय विभिन्‍न सेवाओं के सेवा स्‍तर मानदंडों को पूरा कर सकेंगे। एएमआरयूटी में एक लाख से अधिक आबादी वाले 500 शहरों को शामिल किया जाएगा।

पीएमएवाई के अंतर्गत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और शहरी इलाकों में कम आय वर्ग वाले लोगों के लिए 2022 तक 2 करोड़ मकान बनाने का प्रस्‍ताव है। इस मिशन के चार खंड होंगे, निजी क्षेत्र की भागीदारी से यथास्‍थान मलिन बस्‍ती विकास जिसमें भूमि का इस्‍तेमाल स्रोत के रूप में किया जाएगा, ऋण से जुड़ी सब्सिडी के जरिये सस्‍ते मकान, निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की भागीदारी से सस्‍ते मकान और लाभार्थी की अगुवाई में निर्माण/ वृद्धि। इन खंडों के अंतर्गत 1 लाख रूपये से 2.30 लाख रूपये की केन्‍द्रीय सहायता दी जाएगी।

स्‍मार्ट शहर मिशन का उद्देश्‍य शहरों के बाहरी, सामाजिक, आर्थिक और संस्‍थागत बुनियादी ढांचे की समूची पर्यावरण व्‍यवस्‍था का विकास करना है। इसका उद्देश्‍य सभी वर्गों के जीवन स्‍तर में सुधार और आर्थिक विकास करना है। पुन: संयोजन (पहले से निर्मित क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का विस्‍तार और स्‍मार्ट समाधानों को अपनाना), पहले से निर्मित ढांचे को गिराकर भूमि के तीव्र इस्‍तेमाल के लिए उसका नये डिजाइन के साथ निर्माण, सभी ना‍गरिकों के लाभ के लिए पूरे शहर की परियोजनाओं जैसे ई-शासन और उचित स्‍मार्ट समाधान के जरिये इस मिशन को लागू किया जाएगा। वर्तमान शहरों के बाहर लोगों को रहने की जगह देने के लिए ग्रीनफील्‍ड परियोजनाओं को हाथ में लिया जा सकता है।

तीनों शहरी मिशन नये शहरी युग की शुरूआत: वेंकैया नायडू

तीन मिशनों की शुरूआत से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए शहरी विकास और एचयूपीए मंत्री श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री कल देश में नये शहरी युग की शुरूआत करेंगे। उन्‍होंने कहा कि इससे टीम इंडिया की शहरी इलाकों के कायाकल्‍प की यात्रा शुरू होगी जिसकी फिर से बढ़ने वाले भारत को जरूरत है। पहचाने हुए सुधारों को प्रभावी तरीके से लागू करना इन नये मिशनों की सफलता है। उन्‍होंने कहा शहरी शासन में लोगों की भागीदारी, पारदर्शिता और जवाबदेही तथा नागरिकों तक सेवाओं को तेजी से पहुंचाकर सुधार करने की जरूरत है।

श्री नायडू ने कहा कि एक साथ तीन शहरी मिशनों की शुरूआत शहरी विकास के प्रति सरकार के समेकित दृष्टिकोण को दर्शाता है। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार इन तीन मिशनों पर अगले पांच से छह वर्षों में करीब चार लाख करोड़ रूपये खर्च करने के लिए प्रतिबद्ध है।

री नायडू ने कहा कि नये मिशनों को राज्‍यों, संघ शासित प्रदेशों और शहरी स्‍थानीय निकायों के साथ एक वर्ष के विस्‍तृत विचार-विमर्श के बाद तैयार किया गया है ताकि जवाहरलाल नेहरू शहरी नवीकरण मिशन (जेएनएनयूआरएम) के कार्यान्‍वयन में हुई चूकों से बचा जा सके।

इन मिशनों की शुरूआत के अवसर पर राज्‍यों और संघ शासित प्रदेशों के शहरी विकास और आवास मंत्री, एक लाख से अधिक आबादी वाले 500 शहरों के महापौर और नगर निगम अध्‍यक्ष मौजूद रहेंगे।

News & photo credit – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

13 + 10 =