विश्वि पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कदम्बर का पौधा लगाया

0
340
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 05 जून, 2015 को नई दिल्ली में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रेस कोर्स रोड में कदंब का पौधा लगाते हुए। इस अवसर पर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री( स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रकाश जावडेकर भी उपस्थित हैं।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 05 जून, 2015 को नई दिल्ली में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रेस कोर्स रोड में कदंब का पौधा लगाते हुए। इस अवसर पर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री( स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रकाश जावडेकर भी उपस्थित हैं।

http://ncprojectseed.org/owner/yandeks-karti-ufa-prolozhit.html яндекс карты уфа проложить प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रा मोदी ने विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आज रेसकोर्स रोड के लॉन में कदम्बी का एक पौधा लगाया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने प्रत्येेक परिवार से आने वाली वर्षा ऋतु में एक पेड़ लगाने का आग्रह करते हुए कहा कि जैसे हम सांसारिक वस्तुमओं को धारण करने में गर्व महसूस करते हैं, वैसे ही हमें परिवार द्वारा लगाए गए वृक्षों के लिए भी गर्व होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रकृति के साथ सामजस्यव बनाकर रखना ही धरती पर प्रलयकारी स्थिति से बचने का एकमात्र उपाय है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने पौधे के निकट एक परंपरागत मटका भी रखा, जो जल संरक्षण का पारंपरिक तरीका है और इससे पौधे को नियमित जल आपूर्ति भी सुनिश्चित होती है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 05 जून, 2015 को नई दिल्ली में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रेस कोर्स रोड में कदंब का पौधा लगाते हुए। इस अवसर पर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री( स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रकाश जावडेकर भी उपस्थित हैं।  The Minister of State for Environment, Forest and Climate Change (Independent Charge), Shri Prakash Javadekar is also seen.
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 05 जून, 2015 को नई दिल्ली में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रेस कोर्स रोड में कदंब का पौधा लगाते हुए। इस अवसर पर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री( स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रकाश जावडेकर भी उपस्थित हैं।

история руси 6 класс датыи события

программа делать репост в инстаграме कदंब का पौधा लगाने के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कवि सुभद्रा कुमारी चौहान की इन पंक्तियों का स्मंरण भी किया –
यह कदंब का पेड़ अगर माँ होता यमुना तीरे।
मैं भी उस पर बैठ कन्हैया बनता धीरे-धीरे।।
इस अवसर पर केन्द्री्य पर्यावरण और वन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर भी उपस्थित थे।

нормально ли дрочить news credit: PIB